संकट में सागर / 24 नए केस सामने आए, एक ही परिवार में 7 संक्रमित मिले, अब तक 165 केस

सागर का सदर इलाका लापरवाही का हॉटस्पॉट बन गया है। सागर का सदर इलाका लापरवाही का हॉटस्पॉट बन गया है।
X
सागर का सदर इलाका लापरवाही का हॉटस्पॉट बन गया है।सागर का सदर इलाका लापरवाही का हॉटस्पॉट बन गया है।

  • 10 मई को यहां पहला पॉजिटिव मिला था और 20 दिनों के भीतर संख्या 92 पर पहुंच गई है

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 12:35 PM IST

सागर. कोरोना की खतरनाक तरीके से बढ़ रही चेन से सागर अब संकट में है। शुक्रवार काे 24 नए पाॅजिटिव मिले हैं। इनमें 16 सदर, 4 मढ़िया विट्ठल नगर के अलावा मकरोनिया, मोतीनगर, सिविल लाइन और सूबेदार वार्ड में एक-एक पॉजिटिव मिले हैं। सागर में अभी तक का आंकड़ा 165 पर पहुंच गया है। इनमें सदर क्षेत्र के 92 शामिल हैं। शुक्रवार काे एक व्यक्ति की माैत हाे गई। कोरोना से जिले में अब तक आठ मौतें हो चुकी हैं। 

शुक्रवार को सदर में मिले 16 पॉजिटिव मरीजों में से 7 एक ही परिवार के हैं। यह परिवार सदर में चश्मा दुकान संचालक का है, जो 23 मई को पॉजिटिव मिला था। इस मरीज का इलाज 20 मई को भगवानगंज स्थित प्राइवेट डॉक्टर की क्लीनिक पर हुआ था, जिसके तीन दिन बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। इसके बाद परिवार के सभी 9 सदस्यों को एसवीएन विश्वविद्यालय में क्वारैंटाइन किया गया था। शुक्रवार को 7 की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। इनमें पहले से पॉजिटिव मरीज की 65 वर्षीय मां, 35 वर्षीय पत्नी, 6 वर्षीय बेटी, 11 वर्षीय बेटा, 44 वर्षीय भाभी और दो भतीजी शामिल हैं। सभी को इलाज के लिए बीएमसी में शिफ्ट कर दिया गया है। इसके अलावा सदर में पहले पॉजिटिव व्यक्ति की 45 वर्षीय पत्नी, 16 और 17 वर्षीय बेटे भी संक्रमित मिले हैं।  22 मई को पॉजिटिव मिले सदर निवासी एक परिवार से 35 वर्षीय महिला और पुरुष के अलावा 5 , 6 , 8 और 10 वर्षीय बच्चे भी संक्रमण का शिकार हुए हैं।

फैमिली क्लस्टर : सदर के 92 पॉजिटिव में से 63 केवल 10 परिवारों से 
सदर में तेजी से फैल रहे संक्रमण को लेकर शहर चिंतित है। 10 मई को यहां पहला पॉजिटिव मिला था और 20 दिनों के भीतर संख्या 92 पर पहुंच गई है। इसकी सबसे बड़ी वजह है घर छोटे, सदस्य ज्यादा। सदर क्षेत्र में अधिकांश संयुक्त परिवार हैं। स्थिति यह है कि 400 वर्गफीट के मकान में 3 से 4 भाईयों के परिवार रह रहे हैं। यानी एक घर में सदस्यों की संख्या 10 से अधिक ही है। ऐसे में परिवार का एक व्यक्ति संक्रमित हुआ तो पीछे से पूरा परिवार कोरोना अस्पताल पहुंच गया। यहां मिले 92 पॉजिटिव में से 10 परिवारों के ही 63 मरीज है। जो कि कुल संख्या का करीब 65 फीसदी है। वहीं इसके अलावा अन्य पॉजिटिवों में भी किसी परिवार के दो तो किसी परिवार के तीन सदस्य संक्रमित हुए हैं। इस तरह यदि देखा जाए तो आंकड़ा भले ही बड़ा है, लेकिन यह संक्रमण 20 से 25 परिवारों तक ही है।

मुहाल के 5 परिवारों में 31 पॉजिटिव मिले
सदर के 8 मुहाल में 5 परिवार ऐसे हैं जहां 30 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। हैं। इनमें अहमदाबाद से लौटे 22 वर्षीय युवक के परिवार में 11, नासिक से लौटे युवक के परिवार में 7, चश्मा दुकान संचालक के परिवार में 8,  होटल संचालक के परिवार में 2  और दो भाईयों के परिवार में 3 पॉजिटिव मिले हैं। इनमें से दो की मौत भी हो चुकी है। इनमें से दो परिवारों को छोड़ दें तो बाकी 4 परिवारों में मकान के हिसाब से सदस्यों की संख्या काफी अधिक है।   

वहीं सदर निवासी कैंट के ठेकेदार के परिवार में 12 पॉजिटिव हैं। इसमें मां से लेकर 5 वर्ष के मासूम तक सभी संक्रमण का शिकार है। इस परिवार में सबसे पहले महिला संक्रमित हुई थी। इसके अलावा 11 मुहाल के दो परिवारों में 11 पॉजिटिव मिले हैं। सदर वार्ड नंबर 1 निवासी रिटायर ड्रग इंसपेक्टर के परिवार में 6 सदस्य पॉजिटिव हुए, इनमें से दो की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 10 मुहाल के एक परिवार में 3 सदस्य पॉजिटिव मिले हैं।

अब तक 8 मौतें
कोरोना संक्रमण ने अब तक सागर में 8 लोगों की जान ले ली। शुक्रवार सुबह 60 वर्षीय मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक 18 मई को कोरोना पॉजिटिव मिला था, जिसके बाद से उसका इलाज बीएमसी में किया जा रहा था। 3 दिन पहले अचानक मरीज को सांस लेने में तकलीफ होने लगी। जब मरीज का एक्स-रे हुआ तो उन्हें सीवियर निमोनिया की शिकायत मिली। उन्हें आईसीयू वार्ड में भर्ती किया। वहीं देर रात सदर निवासी 64 वर्षीय  कोरोना पॉजिटिव वृद्ध ने आईसीयू में दम तोड़ दिया। यह 25 मई को सर्दी-खांसी की शिकायत लेकर भर्ती हुआ था। जिले में कोरोना से मौत का यह आठवां मामला है। जिसमें 6 सदर निवासी थे।  

7वें मृतक के साथ परिवार के 9 लोग पॉजिटिव मिले थे
18 मई को सदर निवासी मृतक के साथ उसके परिवार के 9 सदस्य भी पॉजिटिव निकले थे। इनके परिवार में 6 मई को 22 वर्षीय युवक अहमदाबाद से लौटा था, जो कि 13 मई को पॉजिटिव निकला। सभी सदस्य युवक से संक्रमित होना बताए जा रहे हैं। अधिकांश को डिस्चार्ज भी किया जा चुका है। 60 वर्षीय मरीज की मौत के बाद बीएमसी प्रबंधन ने उनका शव थ्री लेयर कवर में पैक कर प्रशासन के सौंपा, जिसके बाद परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना