पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महाराजपुर में पीने के पानी की किल्लत:175 लोग राशन और 300 परिवार आवास से वंचित

सागर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
महाराजपुर में बन रहे मकान। - Dainik Bhaskar
महाराजपुर में बन रहे मकान।
  • कांग्रेस सरकार में नगर पंचायत का दर्जा हुआ था प्रस्तावित, सत्ता बदलने से बात नहीं बढ़ी आगे

देवरी जनपद की पंचायत महाराजपुर के लोगों की सबसे बड़ी समस्या पेयजल की है। यहां पानी की टंकी तो बनी है लेकिन घर-घर नलजल की शुरुआत नहीं हो सकी है। इसी प्रकार यहां के लोगों की दूसरी सबसे बड़ी समस्या राशन की है। 175 से अधिक लोग ऐसे हैं जिन्हें राशन नहीं मिल पा रहा है। वह भी तब जब मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने नि:शुल्क राशन देने की घोषणा की है। पोर्टल पर फीडिंग नहीं होने के कारण इनकी राशन पर्ची ही जनरेट नहीं हो रही है।

इसी प्रकार 300 से अधिक पात्र लोग प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित हैं। पंचायत द्वारा 3 साल पहले इनके नाम आवास प्लस में जोड़ तो दिए गए थे, परंतु इस कैटेगरी का टारगेट नहीं आने के कारण इन लोगों को कच्चे घरों में ही रहने मजबूर होना पड़ रहा है। महाराजपुर को कांग्रेस सरकार के समय नगर पंचायत का दर्जा देने का प्रस्ताव हुआ था, परंतु बाद में भाजपा सरकार आ जाने के बाद यह मामला अटक कर रह गया। यहां के अधिकांश लोग नगर पंचायत के दर्जे के पक्ष में हैं।

  • पेयजल के लिए लोगों को घंटों नलों पर गुजारने पड़ते हैं।
  • नाली निर्माण नहीं होने से जगह जगह जलभराव होता है।
  • 175 से अधिक लोग राशन पर्ची के लिए परेशान हैं।
  • 300 से अधिक पात्र लोगों को अब तक आवास नहीं मिले हैं।

जलसंकट दूर करने का प्रयास जारी

मैं जब सरपंच बना तो सबसे बड़ी समस्या सड़कों को लेकर थी। मैंने सबसे पहले सीसी रोड निर्माण कराया। सामुदायिक आंगनवाड़ी भवन बनवाएं। इंटेक होम बन रहा है। लोगों की आवश्यकता की सभी कार्य कराए हैं। गर्मियों में पेयजल की समस्या रहती है। इसके लिए टंकी भी बनवाई है। पीएचई से हम सतत संपर्क में हैं। उम्मीद है जल्दी ही हर घर में नलजल योजना से सप्लाई होगी। - राजेश गढ़वाल, सरपंच

वो काम जो हुआ : आंतरिक मार्गों में सीसी

रोड का निर्माण। वो काम जो अधूरा है : नई नलजल योजना से हर घर में पेयजल की सप्लाई। वो काम जो शुरू ही नहीं हुआ : मुख्य मार्ग में नाली निर्माण।

खबरें और भी हैं...