सागर में निर्माणाधीन मकान का स्लैब ढहा:​​​​​​​मलबे में 3 मजदूर दबे, एक की मौत; दो मजदूर अस्पताल में भर्ती

सागर7 महीने पहले
मलबे में दबे मजदूूरों को निकालते हुए।

सागर के खुरई रोड स्थित कृषि उपज मंडी के पास शुक्रवार रात निर्माणाधीन मकान का स्लैब ढह गया। घटना में मकान के मलबे में तीन मजदूर दब गए। इनमें से एक मजदूर की माैत हाे गई। घायल दाे मजदूरों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनाक्रम की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे। मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू शुरू किया गया। सूचना पर कलेक्टर दीपक आर्य और एसपी तरुण नायक ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाला।

जानकारी के अनुसार हादसा उस समय हुआ जब मकान के पहले माले की छत की ढलाई का काम चल रहा था। जिसमें 30 मजदूर काम कर रहे थे। इनमें से स्लैब के ऊपर 16 मजदूर और नीचे पाइप साधने के लिए 3 मजदूर लगाए गए थे। छत का वजन बीच में बने एक बड़े पिलर पर था। बाकी पिलर दीवार के साथ किनारे पर थे। वजन ज्यादा हाेने के कारण नीचे लगे पाइप खिसक गए। इससे पूरी छत धराशाई हाे गई। जिससे तीन मजदूर मलबे में दब गए। करीब 2 घंटे तक चले रेस्क्यू के बाद मजदूरों को बाहर निकाला गया। जिसमें से एक मजदूर की इलाज के दौरान मौत हो गई।

कलेक्टर और एसपी मौके पर पहुंचे।
कलेक्टर और एसपी मौके पर पहुंचे।

मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार खुरई रोड गल्ला मंडी के आगे गल्ला व्यापारी कमल विलानी के मकान का निर्माण कार्य चल रहा था। मकान की स्लैब का काम हो रहा था, तभी अचानक स्लैब ढह गई। मजूदरों के चिल्लाने की आवाज सुन आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और बचाओ कार्य शुरू किया।

सूचना मिलते ही मोतीनगर थाना प्रभारी सतीश सिंह टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मजदूरों को बचाने का रेस्क्यू शुरू कराया। घटना में घायल मजदूर दीपक पटैल उम्र 24 साल और मनोज पटैल उम्र 21 साल निवासी तिली गांव को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं कैलाश पटैल उम्र 20 साल निवासी गोपालगंज की इलाज के दौरान मौत हो गई। कलेक्टर दीपक आर्य ने बताया कि मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकाल लिया गया है। दो मजदूरों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। मामले की जांच कराई जा रही है।