पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • 3 Times BSP Candidate Left The Field, That's Why Gopal, Who Took Only 2560 Votes, Got The Ticket Again

उपचुनाव:3 बार बसपा प्रत्याशी ने छोड़ा मैदान, इसीलिए महज 2560 वोट लेने वाले गोपाल को फिर टिकट

सागर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

(संदीप तिवारी)
बहुजन समाज पार्टी इस बार सुरखी सहित प्रदेश की सभी 28 सीटों पर उपचुनाव लड़ रही है। सुरखी में बसपा का इतिहास पार्टी से जुड़े मतदाताओं के लिए पिछले 17 सालों में अविश्वास का ही ज्यादा रहा है।
पिछले चार चुनाव में देखा जाए तो तीन बार बसपा प्रत्याशी ने नामांकन तो जमा किया, लेकिन अंतिम समय में अपना नाम वापस लेकर पार्टी को ही चुनावी दौड़ से बाहर कर दिया। वर्ष-2003, 2008 और 2018 के आम चुनाव के दौरान बसपा ने तीनों बार अपने प्रत्याशी यहां से उतारे, लेकिन हर बार वे नामांकन वापसी के समय अपना नाम वापस लेकर मैदान से बाहर हो गए।

यही वजह है कि इस बार बसपा ने राहतगढ़ के उन्हीं गोपाल अहिरवार को टिकट दिया है, जिन्हें वर्ष 2013 में बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ने पर महज 2560 वोट ही मिले थे। गोपाल बताते हैं जब मैंने चुनाव लड़ा था उसके पूर्व हुए दो चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों ने अपना नाम अचानक से वापस ले लिया था। लिहाजा मतदाताओं के बीच यही असमंजस बना रहा कि मैं चुनाव लड़ूंगा या नहीं, इसी का असर रहा कि मुझे पिछली बार कम वोट मिले थे। ऐसे में चुनौतियां तो हैं, लेकिन लोगों के पास मेरा भरोसा भी है कि मैं मैदान नहीं छोडूंगा। यही भरोसा मुझे जनसंपर्क के दौरान दिख भी रहा है। इस बार मिलने वाले वोट उसी भरोसे के होंगे। उद्योगपति और राजा की टक्कर में इस बार एक गरीब प्रत्याशी जीतेगा।

इन्होंने आखिर में छोड़ा मैदान

  • 2018 में अलीम खान ने फॉर्म वापस लिया।
  • 2008 में गोविंद गोरखी ने नाम वापस ले लिया था।
  • 2003 में नसीम खान ने बसपा द्वारा कांग्रेस से समझौते के बाद नाम वापस ले लिया था। नसीम बताते हैं कि तब प्रदेश 73 सीटों पर बसपा प्रत्याशियों ने नाम वापस लिए थे। नसीम जब 1998 में बसपा से चुनाव लड़े थे तब उन्हें 14 हजार 23 वोट मिले थे।
खबरें और भी हैं...