पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • 313 Positives Found In 27 Days, While The City Was Closed For Six Days, Administration's Decision To Lockdown One Day A Week, Curfew Will Be Closed Tomorrow From 10 Pm

लॉकडाउन से कम नहीं हुआ संक्रमण:27 दिन में मिले 313 पाॅजिटिव, जबकि इनमें से छह दिन शहर बंद था, प्रशासन का यूटर्न सप्ताह में एक दिन लॉकडाउन का फैसला, कल बंद रहेगा बाजार रात 10 बजे से कर्फ्यू

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यह व्यवस्था रविवार छोड़ सप्ताह के बाकी सभी दिन लागू रहेगी

राज्य सरकार के निर्णय के बाद जिले में लाॅकडाउन की व्यवस्था में संशोधन किया है। अपर कलेक्टर अखिलेश जैन के अनुसार अब रविवार लॉकडाउन रहेगा। नागरिकों की सुविधा के लिए सुबह 9 बजे तक सब्जी व दूध की घर पहुंच सेवा के तहत सप्लाई रहेगी। इसके अलावा दवा, चिकित्सकीय, कुकिंग गैस, डीजल-पेट्रोल समेत अन्य जरूरी सामग्री की सप्लाई बहाल रहेगी। शनिवार को लॉकडाउन नहीं रहेगा लेकिन लोगों को रात 10 बजे अपने-अपने घर पहुंचना होगा। रात 10 बजे के बाद कर्फ्यू लागू हो जाएगा। यह व्यवस्था रविवार छोड़ सप्ताह के बाकी सभी दिन लागू रहेगी।
लॉकडाउन से पहले बाजारों में भीड़, इसलिए कम नहीं हुआ संक्रमण
12 जुलाई से अब तक 27 दिन में छह दिन लॉकडाउन रहा, फिर भी मरीजों की संख्या कम नहीं हुई। जिले में इन 27 दिन में 313 पॉजिटिव मरीज मिले। 15 मरीजों की मौत हुई। 73 पॉजिटिव मरीज तो लॉकडाउन के दिन ही मिले। इतना ही नहीं तीन सप्ताह से बंद के दो दिन बाद 10 से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। जब भास्कर ने लॉकडाउन के बाद भी मरीजों के बढ़ने की वजह जानी तो सामने आया कि लॉकडाउन के डर से हर बार शुक्रवार को बाजार में बड़ी संख्या में लोग खरीदी के लिए पहुंच जाते हैं। इस दौरान न तो सोशल डिस्टेंसिंग पालन होता है और न ही मास्क लगाने की फिक्र दिखाई देती है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

भास्कर एनॉलिसिस इसलिए किया था लॉकडाउन

रविवार और शनिवार अवकाश के चलते बाजारों में भीड़ बढ़ने के डर से लॉकडाउन लागू किया। लॉकडाउन के पीछे शासन की मंशा है कि छुट्टी के दिन लोग घरों से बाहर न निकलें। घर में समय बिताएं और परिवार को सुरक्षित रखें। जिसका काफी हद तक पालन भी हो रहा है लेकिन दो दिन के लॉकडाउन के डर से लोग बड़ी संख्या में गुरुवार और शुक्रवार को बाजारों में उतर रहे थे। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का पालन भी नहीं होता। यही वजह है कि पिछले तीन सप्ताह से सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज लॉकडाउन के दिन ही मिलते हैं।

5 कारण; जिससे लॉकडाउन के बाद भी संक्रमण कम नहीं हुआ

  • लॉकडाउन के एक दिन पहले बाजारों में भीड़
  • सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क आदि नियमों का पालन न होना
  • व्यापारियों का बड़ी संख्या में संक्रमित होना
  • पुलिस की कम सख्ती
  • जागरुकता की कमी

लॉकडाउन में हर बार किराना संचालक मिलते हैं पॉजिटिव

लॉकडाउन के दिन हर बार किराना और कपड़ा व्यापारी पॉजिटिव मिलते हैं। 2 अगस्त को मिले पॉजिटिव मरीजों में 4 किराना दुकान संचालक हैं और एक फुल्की बेचने वाला। 25 और 26 जुलाई को भी 7 किराना संचालक और 19 जुलाई को कपड़ा व्यापारी व किराना दुकान संचालक पॉजिटिव मिले थे। इनके संक्रमित होने का कारण है लॉकडाउन से पहले बाजारों में बढ़ी भीड़।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें