11 नए पॉजिटिव, अब तक कुल 77 / 7 दिन में सागर में 59 नए केस, इसमें सबसे ज्यादा सदर में 35; संक्रमित हुए लोगों में 70% युवा

59 new cases in Sagar in 7 days, out of which 35 in Sadar; 70% of young people infected
X
59 new cases in Sagar in 7 days, out of which 35 in Sadar; 70% of young people infected

  • सदर में 4, विट्‌ठल नगर भी पहुंचा संक्रमण, कृष्णगंज में एक और केस

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

सागर. सागर में कोरोना का संक्रमण दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। शनिवार को 11 और नए पॉजिटिव मरीज सामने आए। 15 मई तक सागर में सिर्फ 18 मरीज थे, लेकिन एक सप्ताह के भीतर यह आंकड़ा 77 पहुंच गया। यानी 7 दिन में 59 नए मरीज मिले। गौर करने वाली बात यह है कि 77 केसों में से 49 मरीज 30 साल से कम उम्र के हैं। यानी 70%।
शनिवार को सदर के 4, गढ़ाकोटा के रौन गांव के 3 और विट्ठल नगर में एक, कृष्णगंज वार्ड में 1, बहेरिया और चितौरा में 2 मरीज मिले। वहीं एक संदिग्ध की मौत हो गई है। सागर में सबसे ज्यादा संक्रमित केस 35 केस सदर से मिले। वहीं सागर के पहले कंटेनमेंट एरिया  कृष्णगंज वार्ड में एक और कोरोना पॉजिटिव केस से लोगों में डर है। यहां पहले मिले 5 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।
जानकारी के मुताबिक 2 मरीज सदर मुहाल नंबर 4 के निवासी सगे भाई हैं, जो 13 मई को भगवानगंज स्थित प्राइवेट डॉक्टर की क्लीनिक पर इलाज कराने गए थे। यह वही डॉक्टर हैं जिन्होंने वार्ड क्रमांक 3 के मृतक पार्षद का इलाज किया था। भाईयों का कहना है कि डॉक्टर के अलावा वे किसी से भी नहीं मिले। वहीं सदर मुहाल नंबर 10 की निवासी 25 वर्षीय छात्रा भी पॉजिटिव मिली है। इनकी कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। चौथे पॉजिटिव सदर निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति हैं। जो 12 मई को कोरोना पॉजिटिव मिले पार्षद से मिले थे। पार्षद की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री के आधार पर जब इनकी जांच की गई तो रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। 
इसके अलावा मढ़िया विट्ठल नगर निवासी 69 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। ये वर्णी कॉलोनी में मजदूरी का काम करते थे। ट्रेवल हिस्ट्री नहीं मिली है।  देर रात जिले में 3 और पॉजिटिव मिले हैं। इनमें  कृष्णगंज वार्ड निवासी 60 वर्षीय वृद्ध, चितौरा निवासी 25 वर्षीय युवक और बहेरिया निवासी 18 वर्षीय युवक शामिल हैं। हालांकि इनकी ट्रैवल हिस्ट्री और संक्रमित होने के कारणों का खुलासा पूछताछ पूरी होने के बाद रविवार सुबह आधिकारिक पुष्टि के साथ किया जाएगा।
गुड़गांव से लौटे गढ़ाकोटा के रौन गांव के एक परिवार में मिले 3 पॉजिटिव 
8 पॉजिटिव में से 3 गढ़ाकोटा के रौन गांव के निवासी हैं। इनमें पति-पत्नी और बेटा का नाम शामिल है। यह परिवार 21 मई को गुड़गांव से लौटा था, जिसके बाद इन्हें गांव के एक स्कूल में क्वारेंटाइन किया गया और 22 मई को टीबी अस्पताल में इनकी सैंपलिंग की गई। 23 मई को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद तीनों को बीएमसी के एचडीयू वार्ड में भर्ती किया गया है। गौरतलब है कि इससे पहले रौन गांव में 38 वर्षीय व्यक्ति भी कोरोना पॉजिटिव मिला है। जो कि 9 मई को मुंबई से लौटा था। इस तरह गांव में कुल संक्रमितों की संख्या 4 हो गई है। लेकिन यहां कंटेनमेंट क्षेत्र में नियमों का पालन नहीं किया जा रहा।  वहीं कंटेनमेंट एरिया के ठीक पास देशी शराब दुकान खुलने से यहां शाम के समय लोगों की भीड़ भी लग रही है।
पॉजिटिव मरीजों का इलाज करने वाले एमबीबीएस डॉक्टर पर कार्रवाई नहीं
भगवानगंज में एमबीबीएस डॉक्टर से इलाज कराने वाले मृतक पार्षद के बाद शुक्रवार को दो भाई और  कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन दोनों ने 13 मई को इन्हीं डॉक्टर से अपना इलाज कराया था, लेकिन इनकी भी जानकारी विभाग को नहीं दी गई। हैरानी की बात तो यह है कि  2 दिन पहले सीएमएचओ ने इन्हें नोटिस जारी कर 24 घंटे के भीतर जवाब मांगा था लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। इसके अलावा दूसरी सबसे बड़ी लापरवाही यह रही कि पार्षद की कांटेक्ट हिस्ट्री में डॉक्टर का नाम सामने आने के बाद भी अब तक इनकी सैंपलिंग नहीं कराई गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना