पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Administrative Officers Kept Silent On Transfers Against Rules, 40 Teachers Now Appeal In High Court

शिक्षा विभाग:नियम विरुद्ध तबादलों पर प्रशासनिक अफसरों ने साधी चुप्पी, 40 शिक्षकों ने अब हाईकोर्ट में लगाई गुहार

सागर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हाईकोर्ट ने कहा था- अफसरों को बच्चों की चिंता नहीं है

जिले के स्कूल शिक्षा विभाग में स्थानांतरण नीति को दरकिनार कर नियम विरुद्ध तरीके से सैकडों शिक्षकों के तबादले किए गए हैं। जिसमें एक शिक्षकीय स्कूलों को शिक्षक विहीन करने के अलावा, प्रतिनियुक्त पर गए शिक्षकों के तबादले, रिक्त पद न होने के बाद भी ट्रांसफर कर भेजे गए अतिशेष जैसी कई गड़बड़ियां दैनिक भास्कर द्वारा पिछले एक सप्ताह से लगातार उजागर की जा रहीं हैं। लेकिन हैरानी की बात तो यह है कि शासन के नियमों के रखवाले और जिम्मेदार अफसर इन तबादलों की सुध तक लेने तैयार नहीं हैं।

भास्कर में खबर प्रकाशित होने के बाद सागर जिला ही नहीं प्रदेशभर से शिक्षक तबादलों में हुई गड़बड़ी की शिकायत कर रहे हैं। तबादलों से परेशान कई शिक्षकों ने संभागीय अफसरों से लेकर संचालनालय तक जिला शिक्षा अधिकारी की शिकायत की है, लेकिन अब तक किसी ने भी कार्रवाई करना तो दूर जांच के निर्देश तक नहीं दिए। ऐसे में अब 40 शिक्षकों ने जबलपुर हाईकोर्ट में इस अन्याय के विरुद्ध गुहार लगाई है। इनमें से 30 शिक्षकों के मामले में सुनवाई अभी पेंडिंग है, जबकि 10 शिक्षकों को स्थगन(स्टे) आदेश मिल चुका है। इतना ही नहीं एक शिक्षकीय स्कूल से हुए शिक्षक के तबादले पर शनिवार को हाईकोर्ट ने शासन से जवाब मांगा है। वहीं यह भी कहा कि अफसरों ने दिमाग का इस्तेमाल किए बगैर शिक्षकों के ट्रांसफर िकए हैं। इन्हें बच्चों के भविष्य और शिक्षा तंत्र दोनों की चिंता नहीं है।

अब निरस्त किए जा रहे ट्रांसफर आदेश
इतना ही नहीं गड़बड़ियां उजागर होने के बाद अब इनकी लीपापोती भी शुरू हो गई है। दो दिन पहले ट्रांसफर सूची में मौजूद नामों को निरस्त करने के िलए एक नोटशीट प्रभारी मंत्री को भोपाल भेजी गई थी। जिसके बाद 25 से अधिक शिक्षकों के ट्रांसफर आदेश निरस्त किए गए हैं। इतना ही नहीं पोर्टल के अनुसार अब तक जिले में 500 से अधिक शिक्षकों की स्कूलों से रिलीविंग भी की जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...