मैं रो रही थी,वो मेरा मजाक उड़ा रहे थे:सागर में कॉलेज से छात्रा का पर्स-मोबाइल चोरी, वो छत पर जाकर देने लगी कूदने की धमकी

सागर3 महीने पहले

सागर के गर्ल्स डिग्री कॉलेज में मंगलवार दोपहर बड़ा हंगामा मच गया। यहां बैग गुम होने से नाराज छात्रा 3 मंजिला कॉलेज की छत पर चढ़ गई और बाउंड्रीवॉल पर चढ़कर 40 फीट नीचे कूदने की धमकी देने लगी। यह देख कॉलेज में हड़कंप मच गया। कॉलेज प्रबंधन ने उसे मनाने की कोशिश की, लेकिन वह कई घंटों तक नहीं मानी। बैग के अंदर छात्रा का पर्स और मोबाइल रखा हुआ था।

सूचना पर पुलिस और SDRF की टीम भी मौके पर पहुंची। करीब डेढ़ घंटे चली मान-मनौव्वल के बाद वो मानी और उसे उतार लिया गया। इस दौरान कॉलेज में अफरा-तफरी का माहौल रहा। छात्रा ने बताया कि जब वो शिकायत करने गई तो उसका मजाक उड़ाया गया और उसे रोता देख मैनेजमेंट के लोग हंस रहे थे।

खबर आगे पढ़ने से पहले पोल पर अपनी राय दे सकते हैं...

ये है पूरा मामला

समरेड़ी की रहने वाली सरिता दांगी MA फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट है। कॉलेज में एग्जाम चल रहे हैं। मंगलवार को वह एग्जाम देने कॉलेज आई थी। परीक्षा देने के लिए एग्जाम हॉल में गई। इस दौरान वह बैग, पर्स और मोबाइल बाहर रखकर गई थी। पेपर खत्म होने के बाद जब वह वापस लौटी, तो पर्स और मोबाइल रखा बैग गायब था। उसने कॉलेज प्रबंधन से शिकायत की। कॉलेज के CCTV के फुटेज खंगाले गए। इसमें एक छात्रा बैग ले जाते नजर आई। जब उसने प्रबंधन से शिकायत की, तो मैनेजमेंट ने बात टाल दी।

छात्रा के छत पर चढ़ने के बाद नीचे भीड़ लग गई।
छात्रा के छत पर चढ़ने के बाद नीचे भीड़ लग गई।

बैग ढूंढने का कहा, तो मजाक उड़ाया

छात्रा सरिता ने बताया कि शिकायत के बाद प्रबंधन ने एक्शन नहीं लिया। मैनेजमेंट ने कहा कि तीसरे पेपर के दिन दिला देंगे। छात्रा बोली- 'मैं रो रही थी, और वो मेरा मजाक उड़ा रहे थे। स्टाफ हंस रहा था। परेशान होकर मैं छत पर चढ़ गई।'

प्रबंधन के रवैये से हुई नाराज

प्रबंधन के रवैये से खफा छात्रा सीधे कॉलेज की तीसरी मंजिल पर स्थित छत पर चढ़ गई। वो यहां से 40 फीट नीचे कूदने की धमकी देने लगी। इसके बाद प्रबंधन की सांसें फूल गईं। अफरा-तफरी मच गई। कॉलेज की दूसरी छात्राएं भी मैदान में इकट्‌ठा हो गईं। सूचना पर पुलिस भी पहुंची। अफसरों और प्राचार्य ने छात्रा को समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं मानी। सूचना पर SDRF की टीम और एसपी तरुण नायक भी मौके पर पहुंचे। सावधानी बरतते हुए टीम नीचे तिरपाल पकड़कर खड़ी हो गई, ताकि छात्रा के कूदने की स्थिति में उसे कैच किया जा सके।

ऐहतियात के तौर पर SDRF की टीम नीचे तिरपाल पकड़कर खड़ी हो गई थी।
ऐहतियात के तौर पर SDRF की टीम नीचे तिरपाल पकड़कर खड़ी हो गई थी।

सूझबूझ से छात्रा को उतारा

एसपी तरुण नायक ने बताया कि पुलिस और SDRF की टीम ने छात्रा को बातों में लगाया। इसके बाद पीछे से एक जवान ने उसका हाथ पकड़ लिया। इसके बाद उसे नीचे उतार लिया। पुलिस छात्रा को थाने ले गई। जहां उसे समझाइश दी गई। साथ ही उसकी समस्या का समाधान कराया जा रहा है।

बैग ढूंढने का कहा, तो मजाक उड़ाने लगे

छात्रा सरिता ने बताया कि शिकायत के बाद प्रबंधन ने एक्शन नहीं लिया। मैनेजमेंट ने कहा कि तीसरे पेपर के दिन दिला देंगे। छात्रा बोली- 'मैं रो रही थी, और वो मेरा मजाक उड़ा रहे थे। स्टाफ हंस रहा था। परेशान होकर मैं छत पर चढ़ गई।' पुलिस छात्रा को थाने ले गई। जहां उसे समझाइश दी जा रही है। वहीं उसकी समस्या का समाधान कराया जा रहा है।

करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद छात्रा को उतार लिया गया।
करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद छात्रा को उतार लिया गया।

प्राचार्य बोली- CCTV खंगाले गए थे

डिग्री कॉलेज की प्राचार्य इला तिवारी ने कहा कि छात्रा की शिकायत को गंभीरता से लिया था। बैग व मोबाइल को तलाशने के लिए CCTV फुटेज खंगाले गए। उसकी समस्या का निराकरण जल्द कराने का आश्वासन दिया था। मैं खुद यहां मौजूद थी। उसने ऐसा कदम क्यों उठाया, मैं भी हैरान हूं।