पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Because ... The Administration Has Not Released The Number Of Shopkeepers, The Police Is Locked In An Open Prison If They Come Out To Take The Grocery.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

होम डिलेवरी, डायल करें 0000000000:क्योंकि... प्रशासन ने जारी नहीं किए दुकानदारों के नंबर, किराना लेने निकलो तो पुलिस कर रही है खुली जेल में बंद

सागर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में घूमने वाले लोगों को बिना सोशल डिस्टेंसिंग के खुली जेल में रखा जा रहा है। - Dainik Bhaskar
शहर में घूमने वाले लोगों को बिना सोशल डिस्टेंसिंग के खुली जेल में रखा जा रहा है।

शहर में कोरोना कर्फ्यू को लगे हुए 16 दिनों से ज्यादा समय बीत चुका है। सप्ताह-दर-सप्ताह प्रशासनिक अफसर और जनप्रतिनिधि कोरोना के इस कर्फ्यू को लेकर तारीखें बढ़ा रहे हैं। कई गाइडलाइन बन रही हैं, लेकिन उन पर अमल नहीं हो पा रहा है। शहर के लोगों को राशन-पानी के लिए लोगों को भारी किल्लत उठानी पड़ रही है।

दरअसल, आटा, दाल, चावल, तेल और नमक के समेत किराने की सामग्री के थोक विक्रेताओं के लिए सुबह 6 से 9 बजे की अनुमति दी गई है। इसी में होम डिलेवरी की छूट भी शामिल है पर यह डिलेवरी कौन और कैसे कर रहा है इसकी जानकारी आम जनता को है ही नहीं। लोग रोजमर्रा की चीजों को लेकर परेशान है। पिछले साल जिला प्रशासन की ओर से अधिकृत कुछ लोगों को होम डिलेवरी के लिए नंबर जारी किए गए थे, जो इस बार अभी तक जारी नहीं हो पाए हैं।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते लगाए गए कर्फ्यू में कब से ढील मिलेगी, यह अभी तक तय नहीं है। ऐसे में लोगों को उनकी जरूरत का सामान घरों तक पहुंचने के लिए बनाई गई व्यवस्था में प्रशासनिक तंत्र फैल नजर आ रहा है। हाल में ही जारी की गई गाइडलाइन में जिला प्रशासन ने होम डिलेवरी करने के लिए किराने की दुकानों के लिए अधिकृत किया है। जिनके नाम और नंबर सार्वजनिक नहीं किए हैं। जिससे कई लोगों को जरूरत के सामान लेने के लिए बाजार में भटकना पड़ रहा है। चर्चा है कि कुछ दुकानदारों को होम डिलेवरी करने के लिए क्षेत्रीय थाने में सूचना के साथ डिलेवरी करने वाले व्यक्ति की कोविड टेस्ट की जानकारी देकर अनुमति जारी की गई हैं। वह किसी के लिए पता ही नहीं।

पहले से ही सभी के पास है नंबर
कोरोना कर्फ्यू में सुबह 6 से 9 बजे तक किराना सामग्री सप्लाई की छूट दी गई है। किराना व्यवसायियों के सभी के पास नंबर हैं। जो फुटकर विक्रेता हैं। वे गली-गली में सप्लाई कर रहे हैं।
पवन वारिया, एसडीएम

होम डिलेवरी में भी मनमानी, कम से कम 700 से 1000 रुपए की खरीदारी जरूरी
संजीव जैन ने बताया कि जिन किराना दुकानदारों ने थाने से होम डिलेवरी के लिए अधिकृत किया है। उन्होंने अपने ही नियम बना लिए हैं। दरअसल, 20 रुपए के अतिरिक्त चार्ज पर घरों तक सामान पहुंचाया जा रहा है। उस सामान की कीमत 700 से 1000 रुपए तक का होना जरूरी है। इससे कम सामान की खरीदी होने पर होम डिलेवरी नहीं की जाएगी। यानी आपको 200 से 400 रुपए तक का कुछ किराना सामान बुलाना है तो वह नहीं मिल पाएगा। ऐसे में थोड़े समान के लिए लोगों को भटकना मजबूरी है।

पिछले साल 21 दुकानदारों को किया गया था अधिकृत, इस बार कुछ पता नहीं
ऋषिराजकोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के चलते पिछले साल लॉकडाउन में शहर के अधिकांश एरिया में होम डिलीवरी के जरिए किराना सामग्री व दूध उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया था। शहर के व्यवसायियों ने पहल में मदद करते हुए 20 रु. अतिरिक्त चार्ज लेकर लोगों को सुरक्षित ढंग से किराना सामग्री पहुंचाने के लिए सहयोग किया था। इसके साथ ही यह भी तय किया था कि वे किसी भी सामग्री की कीमत ज्यादा नहीं लेंगे। अलग-अलग एरिया से 21 दुकानदारों के नंबर भी सार्वजनिक किए गए थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें