पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर लाइव:भाग्योदय में ऑक्सीजन की कमी बताकर पेशेंट को बीएमसी भेजा, दो दिन तक नहीं मिला इलाज

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सागर| इलाज न मिलने से सुभाष नगर निवासी राजू सेन की मौत होने पर बीएमसी की गेट पर रोते-बिलखते परिजन - Dainik Bhaskar
सागर| इलाज न मिलने से सुभाष नगर निवासी राजू सेन की मौत होने पर बीएमसी की गेट पर रोते-बिलखते परिजन
  • बीएमसी के गेट पर ही थम गईं सासें

सुभाष नगर निवासी राजू सेन की समय पर इलाज न मिलने से गुरुवार को मौत हो गई। परिजन उन्हें लेकर पिछले एक सप्ताह से निजी अस्पतालों व बीएमसी में भटक रहे थे, लेकिन उन्हें कही भी ठीक से इलाज नहीं मिला। इससे गुरुवार दोपहर उन्होंने बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के गेट पर दम तोड़ दिया।

परिजनों ने बताया कि राजू सेन को अस्थमा व लकवा की बीमारी थी, लेकिन वे चल-फिर लेते थे। पिछले दो-तीन साल से उनका इलाज भाग्योदय अस्पताल में चल रहा था। मंगलवार को भाग्योदय में डॉक्टरों ने कहा कि राजू सेन को आईसीयू में एडमिट करना पड़ेगा। परिजन इसके लिए तैयार हो गए तो डॉक्टरों ने कहा कि ऑक्सीजन नहीं है। आप इन्हें बीएमसी ले जाओ। भाग्योदय से आरटी-पीसीआर (कोविड) की जांच लिखकर पेशेंट को बीएमसी रेफर कर दिया।

परिजन रात करीब 8 बजे राजू सेन को लेकर बीएमसी पहुंचे। तब तक यहां कोविड के सैंपल लेना बंद हो गया था। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने पेशेंट को चेक तक नहीं किया और गार्ड ने बुधवार सुबह 10 बजे लेकर आना ऐसा बोलकर वापस लौटा दिया। पेशेंट की हालत गंभीर होने पर परिजन उसे लेकर चौकसे अस्पताल पहुंचे। यहां भी डॉक्टर ने पेशेंट को ठीक से चेक नहीं किया और करीब 1200 रुपए की दवाइयां लिख दी, 300 रुपए फीस ले ली। परिजन दवाईयां लेकर आए लेकिन पेशेंट को आराम नहीं।

खबरें और भी हैं...