• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • BMC Management Admits Gross Negligence In Investigation, Nurse Suspended, 5 Intern Medical Students Removed From OT

सागर में लेबर रूम के बाहर आतिशबाजी का मामला:BMC प्रबंधन ने जांच में माना घोर लापरवाही, नर्स निलंबित, ओटी से 5 इन्टर्न मेडिकल छात्रों को हटाया

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीएमसी के लेबर रूम गेट पर आतिशबाजी का मामला। - Dainik Bhaskar
बीएमसी के लेबर रूम गेट पर आतिशबाजी का मामला।

सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में दीपावली पर्व के दिन लेबर रूम के गेट पर की गई आतिशबाजी मामले में बीएमसी प्रबंधन ने जांच बैठाई। जांच के दौरान लेबर रूम के ड्यूटी रोस्टर के आधार पर स्टाफ के लोगों के बयान लिए गए। जिसमें आतिशबाजी की घटना सही पाई गई। इस घटना को बीएमसी प्रबंधन ने घोर लापरवाही बताया है। वहीं कार्रवाई करते हुए स्टाफ नर्स को निलंबित कर दिया है। साथ ही इन्टर्न 5 छात्रों को ओटी से हटा दिया गया है।

दरअसल, दीपावली पर्व के चलते 4 नवंबर की रात बीएमसी के लेबर रूम के गेट के बाहर ड्यूटी स्टाफ ने आतिशबाजी की थी। मामला सामने आते ही बीएमसी डीन डॉ. आरएस वर्मा ने जांच टीम गठित की और मामले में जांच कराई। जांच में लेबर रूम में तैनात ड्यूटी स्टाफ के बयान लिए गए।

जांच में आतिशबाजी की घटना सही पाई गई। उक्त घटना को बीएमसी प्रबंधन ने गंभीर लापरवाही बताया है। साथ ही कार्रवाई करते हुए स्टाफ नर्स रामदेवी अहिरवार को निलंबित कर दिया। वहीं इन्टर्न छात्रा डॉ. जयश्री, मीना मैथ्यू, तारूणी गुप्ता, डॉ. आफरीन, पीजी छात्र डॉ. पलाश को तत्काल प्रभाव से लेबर रूम, गायनी ओटी से हटा दिया गया है। इसके अलावा घटना के समय ड्यूटी पर तैनात सुरक्षा गार्ड को निलंबित करने के लिए कंपनी को निर्देश दिए गए है।

सागर में लेबर रूम के गेट पर चलाए पटाखे:BMC के लेबर रूम परिसर में फोड़ा रोशनी वाला बम, ऊपर से निकली थी ऑक्सीजन पाइप लाइन
प्राध्यापक को नोटिस, 3 दिन में मांगा जवाब
लेबर रूम के गेट पर आतिशबाजी के मामले को लेकर शनिवार को अधीक्षक कार्यालय बीएमसी में बैठक रखी गई। बैठक में स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग प्राध्यापक डॉ. शिखा पाण्डेय नहीं पहुंची। उन्हें बार-बार फोन लगाया गया। लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। साथ ही आतिशबाजी की घटना पर संज्ञान नहीं लिया गया। मामले में बीएमसी डीन वर्मा ने प्राध्यापक डॉ. शिखा पाण्डेय को नोटिस जारी किया गया। 3 दिन में नोटिस का जवाब पेश करने के निर्देश दिए है।
जांच के बाद की गई कार्रवाई
बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज मीडिया प्रभारी डॉ. उमेश पटेल ने बताया कि बीएमसी के लेबर रूम में हुई आतिशबाजी के मामले की जांच की गई। जांच में घटना सही पाई गई। जांच के आधार पर नर्स स्टाफ को निलंबित किया है। वहीं इंटर्न, पीजी छात्रों को लेबर रूम ओटी में प्रवेश पर रोक लगाई गई है।

खबरें और भी हैं...