पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Calling Relatives And Saying To Relatives Sorry, There Will Be Only 10 Hours Of Marriage.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना इफैक्ट... न बारात, न बैंडबाजा:फोन लगाकर रिश्तेदारों से कहा- माफ करना शादी में 10 घराती-बराती ही रहेंगे

सागर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चाचा-चाची नहीं हो पाए शादी में शामिल। - Dainik Bhaskar
चाचा-चाची नहीं हो पाए शादी में शामिल।
  • एक दिन पहले रोक फिर 10 लोगों की मौजूदगी की शर्त पर जारी हुई स्वीकृति, अधिकांश लोगों ने आगे बढ़ाई तारीख

जिला प्रशासन द्वारा रविवार को विवाह और निकाह पर रोक लगाने के आदेश के बाद अधिकांश लोगों ने अपने विवाह समारोह स्थगित कर दिए हैं। हालांकि सोमवार सुबह 11 बजे कलेक्टर द्वारा यह आदेश भी जारी किया गया कि 10 लोगों की मौजूदगी में विवाह समारोह किए जा सकते हैं। इसके बाद भी शहर में अधिकांश लोगों ने ऐसा करने की जगह विवाह आगे बढ़ाना ही उचित समझा।

हालांकि कुछ लोग ऐसे भी रहे जिन्होंने इस छूट का फायदा उठाते हुए तयशुदा तारीख पर ही विवाह संपन्न कराया। परंतु समारोह में कम लोगों की सीमित संख्या होने के कारण लोगों को खासी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा। इसी प्रकार एक विवाह निधि और कृष्णा का हुआ। निधि के भाई हरपाल सिंह ने बताया कि रविवार की रात में ही हमारे पास थाने से सूचना आ गई थी कि आपको जो विवाह संबंधी स्वीकृति दी गई थी, वह निरस्त हो गई है। अब आप विवाह समारोह आगे बढ़ा दें। इसके बाद हमने वर पक्ष में बात की तो वह भी शासन के आदेश को मानने तैयार हो गए।

हालांकि सोमवार को दोपहर करीब 12 बजे के लगभग हमें पता चला कि 10 लोगों की मौजूदगी में विवाह करा सकते हैं। चूंकि हम एक दिन पहले ही रिश्तेदारों को मना कर चुके थे तो वह भी नहीं आए। यही समस्या वर पक्ष वालों ने भी बताई। बाद में दोनों ही पक्ष के परिजनों ने इस बात पर सहमति जता दी की पांच-पांच लोग दोनों तरफ से आ जाते हैं और दिन में ही विवाह संपन्न करा लेंगे। इस डर से कि कहीं और कोई आदेश न आ जाए। इसके बाद हम लोगों ने एक धार्मिक स्थल राजावर में पहुंच कर विवाह कराया।

हमारे जाने के बाद यहीं पर एक अन्य जोड़े ने भी आकर विवाह संपन्न कराया। हम लोगों ने अपने रिश्तेदारों से इस बात के लिए भी माफी मांगी कि मजबूरन हम उन्हें बुला नहीं सके। इतना ही नहीं घर के चाचा-चाची अन्य भाई बहन भी विवाह में शामिल नहीं हो सके। हालांकि की यही खुशी रही कि जो तारीख तय थी उसी पर विवाह हो गया। गोपालगंज निवासी रामस्वरूप तिवारी ने बताया कि उन्होंने अपने बेटे का विवाह समारोह बढ़ा दिया है। इसी प्रकार श्रेयांस जैन ने भी अपना विवाह समारोह आगे बढ़ा दिया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें