पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Cantonment Hospital Doctors May Be Affected In Corona Period, Allegations Of Wrong Treatment From Patients

कैंट :कोरोना काल में भारी पड़ सकती है छावनी अस्पताल के डॉक्टरों की खींचतान, मरीजों से गलत व्यवहार के भी लग रहे आरोप

सागर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सदर में 100 से ज्यादा पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं, अस्पताल में पर्याप्त संसाधनों के बाद भी मरीजों का सही इलाज नहीं
Advertisement
Advertisement

कैंट के प्रमुख रहवासी एरिया सदर में एक के बाद एक कोरोना पॉजिटिव के मरीज निकल रहे हैं। मुमकिन है कि अभी और भी लाेग हों जो इस महामारी से ग्रसित हों। ऐसे में कैँट के स्थानीय छावनी अस्पताल की भूमिका बढ़ जाती है। लेकिन स्थानीय नागरिक व पार्षदों का भरोसा करें तो ये अस्पताल प्रशासन की अपेक्षा पर खरा नहीं उतर रहा है।

जानकारी के अनुसार अस्पताल में कुल मिलाकर दो डॉक्टर हैं, उनमें से एक लेडी डॉक्टर को पिछले दिनों सस्पेंड कर दिया गया था हालांकि सीईओ राजीवकुमार के मौखिक निर्देश पर वे अस्पताल में रुटीन वर्क कर रही हैं, जबकि दूसरे पर मरीज तो ठीक पार्षदों से भी र्दुव्यवहार करने के आरोप हैं। स्थानीय निवासियों का कहना है कि डॉक्टरों की आपसी खींचतान के चलते हम लोगों को बेहतर उपचार नहीं मिल पा रहा।

मरीजों का उपचार करने के बजाए उन्हें भगा देते हैं 

सदर निवासी संजू पटैरिया का कहना है कि मैं, करीब 10 दिन पहले पेट दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल गया था। तब वहां पदस्थ डॉ. प्रमोद गोल्या, अस्पताल के बाहर क्रिकेट खेल रहे थे। मैंने उनसे दूर से ही जल्द अपने इलाज के बारे में कहा ताे उन्होंने जवाब दिया कि गिरकर बेहोश तो नहीं हो जाओगे, करीब 10 मिनट इंतजार कराने के बाद वे अपने चेम्बर में गए लेकिन तब तक मैं वहां से निकल आया।

महिला डॉक्टर नहीं है, मेल डॉक्टर को कैसे और क्या बताएं 
स्थानीय कांग्रेस नेता गुरमीतसिंह इल्ले का कहना है कि ये अस्पताल उपचार का काम रिनोवेशन, सामग्री खरीदी से लेकर डॉक्टरों की तफरीह का अड्डा बना हुआ है। उस पर से यहां पदस्थ दोनों ही डॉक्टरों की आपासी खींचतान मची रहती है। इसी के चलते डॉ. प्रिया जैन को सस्पेंड कर दिया गया। जबकि दूसरे डॉ. प्रमोद गोल्या मरीजों से भी बदसलूकी करते है। वे उनसे सीधे मुंह बात नहीं करते हैं।

पार्षदों से भी हो चुकी है बदसलूकी, इसलिए कोई जाता तक नहीं 
अस्पताल के बेहतर संचालन की जवाबदारी स्थानीय पार्षदों की भी है। लेकिन कुछ दिन पहले डॉ. गोल्या के कामकाज की समीक्षा करने वरिष्ठ पार्षद शेखर चौधरी, वीरेंद्र पटेल और प्रतिनिधि हरिओम केशरवानी गए थे। तब डॉ. गोल्या ने सीईओ राजीवकुमार की मौजूदगी में इन सभी से बदसलूकी की थी। तब से पार्षदों ने अस्पताल का रुख करना ही छोड़ दिया। घटनाक्रम की पुष्टि पार्षद वीरेंद्र पटेल ने की है। इधर इस घटनाक्रम समेत मरीजों के प्रति व्यवहार को लेकर जब डॉ. गोल्या से उनका पक्ष लिया गया तेा उन्होंने बताया कि अस्पताल में रोजाना करीब 100 मरीजों का उपचार हो रहा है लेकिन जैसे ही मरीजों से उनके व्यवहार संबंधी सवाल किए गए तो उन्होंने फोन काट दिया। इसके बाद उनका फोन रिसीव नहीं हुआ।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement