धूल-धूल हो रहा शहर:विकास कार्यों की लेटलतीफी का खामियाजा भुगत रहे शहरवासी

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में इन दिनों विकास कार्य चल रहे हैं, जिनकी लेटलतीफी का खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ रहा है। पहले बारिश में कीचड़ तो अब सड़कों से उठती हुई धूल से लोग परेशान हैं। इनमें से कुछ प्रोजेक्ट तो ऐसे हैं, जिनकी मियाद पर मियाद बढ़ाई जा रही है तो कुछ ऐसे जिनकी शुरूआत कुछ महीने पहले ही हुई है। फिर भी उड़ती हुई धूल को लेकर कोई इंतजाम नहीं किए जा रहे है।

हाल में ही कलेक्ट दीपक आर्य ने निर्देश जारी किए थे कि शहर में जहां-जहां प्रोजेक्ट चल रहे हैं, वहां पानी का छिड़काव किया जाए, ताकि धूल न उड़े। स्मार्ट रोड और संजय ड्राइव सड़क पर दिन और शाम को एक बार पानी का छिड़काव किया जा रहा है, जहां कुछ दिनों में हालात जस के तस हो जाते हैं। उधर, सीवरेज और टाटा कंपनी के प्रोजेक्ट पानी का छिड़काव नहीं कर रहे हैं।

स्वास्थ्य संबंधी मामले सामने आने लगे

धूल के कारण लोगों और वाहन चालकों का शहर में चलना मुश्किल हो गया है। सेहत के नजरिए से भी लोगों की मुश्किलें बढ़ रही हैं। खांसी, दमा, सांस लेने में परेशानी, एलर्जी, जैसे ही मामले सामने आ रहे हैं। मास्क लगाने के बाद धूल के बारीक कण आंखों में जाने के कारण आंखों में जलन की समस्या हो रही है।

खबरें और भी हैं...