• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Damoh Medical College Proposal Stuck In Cabinet, Sagar Division Did Not Get Third College

संभाग में केंद्र-प्रदेश के छह मंत्री फिर भी उपेक्षा:दमोह मेडिकल कॉलेज का प्रस्ताव कैबिनेट में अटका, सागर संभाग को नहीं मिला तीसरा कॉलेज

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश सरकार के कैबिनेट ने दमोह मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव को मंजूरी नहीं दी। इससे सागर संभाग को तीसरा मेडिकल कॉलेज नहीं मिला। जबकि संभाग से चार मंत्री राज्य सरकार में प्रतिनिधित्व करते हैं। वहीं दो मंत्री केंद्र सरकार में है। राज्य कैबिनेट ने हाल ही में 6 नए सरकारी मेडिकल कॉलेज खोलने की मंजूरी दी है, इन्हें मिलाकर प्रदेश में 21 सरकारी मेडिकल कॉलेज हो जाएंगे।

इस सूची में दमोह मेडिकल कॉलेज का नाम नहीं है। जिसके कारण सागर संभाग अन्य संभागों की तुलना में पिछड़ गया। भोपाल, जबलपुर, उज्जैन, ग्वालियर और रीवा संभाग में 3-3 मेडिकल कॉलेज हो जाएंगे। वहीं सागर में इनकी संख्या सिर्फ 2 रहेगी। सागर में बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज है। अब छतरपुर में मेडिकल कॉलेज की टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

उपचुनाव में की थी घोषणा

दमोह मेडिकल कॉलेज की घोषणा उपचुनाव के दौरान मुख्यमंत्री ने ही की थी। लेकिन राज्य कैबिनेट की मंजूरी में दमोह का नाम गायब है। वहीं मेडिकल कॉलेज की जमीनी हकीकत देखें तो अब तक कॉलेज के लिए जरूरी 12 हेक्टेयर जमीन में से सिर्फ 7 हेक्टेयर जमीन ही चिह्नित की है। दरअसल यहां भाजपा विधायक का उपचुनाव हार गई, इसके बाद प्रक्रिया ठंडे बस्ते में डाल दी गई।

कहां कितने सरकारी मेडिकल कॉलेज

  • भोपाल - 3, ग्वालियर - 3
  • उज्जैन - 3, रीवा - 3, जबलपुर - 3
  • इंदौर - 2, सागर - 2, चंबल - 1, शहडोल - 1, नर्मदापुरम - 0

जिन 6 मेडिकल कॉलेजों की स्वीकृति हुई है वे पहले से ही प्रस्तावित थे। अभी और मेडिकल कॉलेज प्रदेश में स्वीकृत होंगे। जिसमें दमोह का नाम भी शामिल है। दमोह मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति जल्द से जल्द की जाएगी। -विश्वास सारंग, चिकित्सा शिक्षा मंत्री मध्य प्रदेश

खबरें और भी हैं...