पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संभाग की पहली अनुकंपा:सास की मौत के 21 दिन बाद बहू को मिली अनुकंपा नियुक्ति, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनने पर बोलीं- 100% वैक्सीन करवाऊंगी

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नियुक्ति पत्र देते मंत्री भार्गव। - Dainik Bhaskar
नियुक्ति पत्र देते मंत्री भार्गव।
  • कोरोना की दूसरी लहर में 26 मई को रहली की विजयलक्ष्मी ने गंवाई थी जान

कोरोना की दूसरी लहर में कई परिवार अपनों को खो दिया। परिवार के परिवार ही संक्रमण की चपेट में आकर खत्म हो गए। संक्रमण जानलेवा होने के बाद भी स्वास्थ्य एवं आगंनबाड़ी कार्यकर्ता अपना धर्म निभाने से पीछे नहीं हटे। लोगों को जागरुक करते रहे। ऐसा ही कुछ हौसला रहली के ग्राम दरारिया की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विजयलक्ष्मी तिवारी ने दिया। वह कोरोनाकाल में लोगों को कोरोना से बचाने के लिए निरंतर जागरुक करती रहीं और संक्रमित होने के बाद उन्होंने जान गंवा दी। परिवार को गहरा सदमा लगा। विजयलक्ष्मी तिवारी की मौत के बाद अब उनकी बहू स्वाति तिवारी को अनुकंपा नियुक्ति दी गई है।

यह संभाग की पहली कोरोना अनुकंपा नियुक्ति है। स्वाती का कहना है कि अपनी सास की तरह अब मैं भी वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक करूंगी। संभाग की प्रथम कोविड अनुकंपा नियुक्ति स्वाति तिवारी को मिली है।

मंत्री भार्गव ने दिए थे प्रकरण जल्द निपटाने के निर्देश

मामला रहली विधानसभा क्षेत्र के दरारिया गांव का है। यहां अांगनबाड़ी कार्यकर्ता विजयलक्ष्मी तिवारी का कोविड से निधन हो जाने के बाद मामला जिले के कोविड प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव के संज्ञान में अाया। इसके बाद उन्होंने कलेक्टर दीपक सिंह को विजयलक्ष्मी तिवारी के निधन पर उनकी बहु स्वाति तिवारी को अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने तुरंत कार्यवाही करते हुए महिला एवं बाल विकास अधिकारी से प्रकरण तैयार करवाते हुए 21 दिन के अंदर इस अनुकंपा नियुक्ति के आदेश जारी किए गए। शुक्रवार को पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने स्वाति तिवारी को अनुकंपा नियुक्ति का पत्र सौंपा।

रहली परियोजना के दरारिया आंगनबाड़ी केन्द्र में पदस्थ विजयलक्ष्मी तिवारी का कोविड संक्रमण के चलते 26 मई को निधन हो गया था। स्वाती को जिला पंचायत सीईओ डाॅ. इच्छित गढ़पाले, महिला बाल विकास विभाग से विजय कुमार जैन, शीतल पटेरिया और ममता खटीक ने शुभकामनाएं दी हैं।

खबरें और भी हैं...