• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Departing From Romania, Will Reach Delhi In The Evening, Akshay Is Stuck In A Jam 150 Km Before Romania Border, Shashwat Leaves For Hungary

यूक्रेन में फंसा सागर का वेदांश आज लौटेगा वतन:रोमानिया से रवाना होकर शाम को दिल्ली पहुंचेगा, अक्षय रोमानिया बार्डर से 150 किमी पहले जाम में फंसा, शाश्वत हंगरी के लिए रवाना

सागर9 महीने पहले
यूक्रेन में फंसा वेदांश विमान से दिल्ली के लिए रवाना हुआ।

रूस हमले के बाद यूक्रेन में फंसे सागर के 3 स्टूडेंट की वतन वापसी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बच्चों के यूक्रेन में फंसे होने से परिवार वालों का बुरा हाल है। लेकिन अब उनके लिए राहत की खबर सामने आई है। सागर की एकता कॉलोनी में रहने वाले वेदांश रोमानिया से विमान के माध्यम से दिल्ली के लिए रवाना हो गए है। वे शाम को दिल्ली पहुंचेंगे। वहीं रहली निवासी अक्षय पटेल ओडेसा से रोमानिया के लिए जा रहे हैं।

हालांकि अक्षय रोमानिया बार्डर से करीब 150 किमी पहले जाम में फंस गए है। उनकी बस को आगे निकालने की कोशिश की जा रही है। उधर, यूक्रेन के ऊजहोरोद शहर में फंसे बीना निवासी शाश्वत जैन भारतीय समय के अनुसार सुबह 10.30 बजे बस के माध्यम से हंगरी बार्डर के लिए रवाना हुए है। जल्द ही सागर के तीनों बेटे अपने घर लौटेंगे।

वेदांश रोमानिया पहुंचा, रहने और खाने की हुई फ्री व्यवस्था, अक्षय ओडेसा से रोमानिया जाने के लिए कर रहा वाहन का इंतजार
दिल्ली पहुंच नानी के घर रुकेगा वेदांश
यूक्रेन में फंसे सागर के वेदांश खरे रोमानिया से विमान के माध्यम से दिल्ली के लिए रवाना हो गए है। वेदांश रविवार शाम तक दिल्ली पहुंचेंगे। जहां वे अपनी नानी के घर रूकेंगे। जिसके बाद सागर लौटेंगे। वेदांश सुरक्षित हैं और अपने साथी दोस्तों के साथ विमान से दिल्ली आ रहे हैं। बेटे के घर लौटने की खबर सुन परिवार के लोगों ने राहत की सांस ली है। वेदांश ने विमान में सवार होने का वीडियो भी परिवार को भेजा है। वेेदांश खरे यूक्रेन के इवानो फ्रैंक्फिश शहर से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हैं।

वेदांश खरे।
वेदांश खरे।

रोमानिया बार्डर से 150 किमी पहले जाम में फंसी अक्षय की बस
यूक्रेन में फंसे सागर के रहली निवासी अक्षय पटेल के पिता दयाराम पटेल ने बताया कि अक्षय का सुबह करीब 8 बजे मैसेज आया था। जिसमें उसने बताया है कि वो रोमानिया बार्डर के लिए रवाना हुआ था। लेकिन बार्डर से करीब 150 किमी पहले जाम में गाड़ी फंस गई है। रास्ते पर कई किमी लंबा जाम लगा है। जाम के कारण आगे नहीं बढ़ पा रहे है। मोबाइल डिस्चार्ज हो रहा है। इसलिए बंद करके रखा है। जरूरत पर ही चालू कर रहा हूं। गाड़ी के चारों पर तरफ तिरंगा झंडा लगा हुआ है। वह रात 3 बजे ओडेसा से रोमानिया बार्डर से लिए निकाला था।

अक्षय पटेल।
अक्षय पटेल।

शाश्वत बस से हंगरी बार्डर के लिए रवाना हुआ
यूक्रेन के ऊजहोरोद शहर में फंसे सागर के बीना निवासी शाश्वत जैन भी वतन लौटने के लिए रवाना हो गए हैं। पिता धर्मेंद्र जैन ने बताया कि शाश्वत भारतीय समय के अनुसार सुबह 10.30 बजे बस के माध्यम से कॉलेज हॉस्टल से हंगरी बार्डर के लिए रवाना हो गए हैं। नेटवर्क व अन्य कारणों से अभी शाश्वत से संपर्क नहीं हो पा रहा है। शाश्वत ऊजहोरोद नेशनल यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हैं। करीब साढ़े 3 माह पहले ही यूक्रेन गए थे।

शाश्वत जैन।
शाश्वत जैन।
खबरें और भी हैं...