पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • District Advocates Association Elections May Be Held In August; The Term Of The Union Has Ended 15 Months Ago, The High Court Had Constituted An Ad hoc Committee

चुनाव की तैयारी:अगस्त में हाे सकते हैं जिला अधिवक्ता संघ के चुनाव; 15 महीने पहले समाप्त हाे चुका है संघ का कार्यकाल, हाईकाेर्ट ने गठित की थी तदर्थ कमेटी

सागर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अधिवक्ता संघ के चुनाव की तैयारी शुरू हाे गई हैं। हाईकाेर्ट ने रिटर्निंग ऑफिसर घाेषित कर दिया है। हालांकि अभी चुनाव कार्यक्रम संबंधी अधिकृत आदेश जारी नहीं हुआ। करीब 15 महीने पहले अधिवक्ता संघ का कार्यकाल समाप्त हाे गया था। इसके बाद हाईकाेर्ट ने वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए तदर्थ कमेटी का गठन किया था। संघ के पूर्व पदाधिकारियाें का दावा है कि अब 12 अगस्त से चुनाव प्रक्रिया शुरू हाे सकती है। इसके लिए वरिष्ठ अधिवक्ता रूपसिंह यादव काे चुनाव अधिकारी नियुक्त किया गया है।

अधिवक्ता संघ के चुनाव काे लेकर सरगर्मी बढ़ गई है। अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के दावेदाराें ने वकीलाें से संपर्क शुरू कर दिया है। सागर में अधिवक्ताओं के दाे अलग-अलग गुट चल रहे हैं। दाेनाें ही गुट के लाेग अपने-अपने लाेगाें काे निर्वाचित कराने के लिए अभी से सक्रिय दिख रहे हैं। स्टेट बार काउंसिल द्वारा गठित तदर्थ कमेटी चुनाव तक अपना काम करती रहेगी।

जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष अंकलेश्वर दुबे अन्नी ने बताया कि मप्र उच्च न्यायालय द्वारा एक रिट याचिका में बार एसोसिएशन सागर के अधिवक्ता संघ के चुनाव में सीधे हस्तक्षेप करते हुए चुनाव अधिकारी नियुक्त करते हुए बार एसाेसिएशन के चुनाव की प्रक्रिया 12 अगस्त से प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं। संघ के पूर्व उपाध्यक्ष राजेश मिश्रा द्वारा उच्च न्यायालय मे एक रिट याचिका दाखिल की गई थी। जिसमें यह कहा गया था कि स्टेट बार काउंसिल द्वारा विधि विरुद्ध बार एसोसिएशन में एक तदर्थ समिति बना दी गई है।

उनका तर्क था कि एसोसिएशन का कार्यकाल 4 अप्रैल 2020 को समाप्त हाेने के बाद स्टेट बार काउंसिल द्वारा कार्यकाल का विस्तार किया गया था। जिससे अधिवक्ता संघ वर्तमान में कार्य कर रहा था। स्टेट बार काउंसिल के आदेश पर अधिवक्ता संघ के चुनाव की प्रक्रिया 5 अप्रैल 2021 से प्रारंभ कर दी गई थी। 15 अप्रैल से कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन लग जाने के कारण चुनाव की प्रक्रिया स्थगित हो गई थी। इसके बाद 27 अप्रैल को स्टेट बार काउंसिल द्वारा विधि विरुद्ध तरीके से बार एसोसिएशन मे एक तदर्थ समिति गठित कर दी थी।

याचिका की सुनवाई के दौरान उच्च न्यायालय द्वारा यचिकाकर्ता से चुनाव अधिकारी का नाम प्रस्तावित करने के लिए कहा गया ताे उन्हाेंने वरिष्ठ अधिवक्ता रूपसिंह यादव का नाम प्रस्तावित किया। उच्च न्यायालय द्वारा चुनाव कार्यक्रम निर्धारित करते हुए याचिका का निराकरण कर दिया है।

तदर्थ कमेटी काम करती रहेगी, चुनाव में सहयाेग करेंगे
पूर्व जिला अधिवक्ता संघ का कार्यकाल समाप्त हाेने के बाद भी चुनाव न कराए जाने के कारण स्टेट बार काउंसिल ने कामकाज देखने अाैर चुनाव के लिए तदर्थ कमेटी गठित की थी। अधिवक्ता संघ के चुनाव हाेने तक तदर्थ कमेटी अपना काम करती रहेगी। हम निर्वाचन अधिकारी का सहयाेग करेंगे। कमेटी में संयाेजक समेत 6 लाेग शामिल हैं। - एडवाेकेट राजेंद्र दुबे, संयाेजक तदर्थ कमेटी

खबरें और भी हैं...