• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Drone Survey In 1025 Villages Will Allow Entry Of 1 Lakh 17 Thousand Plots, Now You Will Get Ownership

ड्रोन सर्वे:1025 गांवों में ड्रोन सर्वे से 1 लाख 17 हजार प्लॉट की एंट्री, अब मिलेगा मालिकाना हक

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में स्वामित्व योजना के तहत भू-अभिलेख शाखा कर रही मॉनीटरिंग। - Dainik Bhaskar
जिले में स्वामित्व योजना के तहत भू-अभिलेख शाखा कर रही मॉनीटरिंग।

केन्द्र की स्वामित्व योजना के तहत अब ग्रामीणों को जहां वे रह रहे हैं। उस स्थान का मालिकाना हक दिया जाएगा। इसके लिए जिले की 9 तहसील के 1025 गांवों में ड्रोन सर्वे हो चुका है। इनमें 12 गांव सागर तहसील के भी शामिल हैं। डोन सर्वे के बाद पटवारियों द्वारा आबादी क्षेत्र के प्लॉट की एंट्री की जा रही है।

अब तक 1 लाख 17 हजार 398 प्लॉट की एंट्री सारा एप के माध्यम से हो चुकी है। जिन पर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया जाना है। जिले में अब तक सबसे ज्यादा देवरी क्षेत्र के 180 गांवों में ड्रोन सर्वे हुआ है। तो वहीं दूसरे स्थान पर 173 गांव के साथ खुरई तहसील है। सर्वे सिर्फ गांव की आबादी भूमि में किया जा रहा है। जिसके डाटाबेस से पंचायत स्तर पर संपत्ति रजिस्टर भी तैयार किए जाएंगे।

स्वामित्व से पंचायतें ले सकेगी संपत्ति कर

आबादी क्षेत्र में जिस स्थान पर ग्रामीण रह रहे हैं। उन्हें उसी स्थान का स्वामित्व प्रमाण-पत्र मिलेगा। इससे उन्हें मकान-प्लॉट पर बैंक से लोन लेना आसान हो जाएगा। संपत्तियों के पारिवारिक हिस्सा-बांट, हस्तांतरण, नामांतरण, बंटवारे की प्रक्रिया आसान होगी और इससे संपत्ति को लेकर होने वाले पारिवारिक विवाद भी कम होंगे। रिकॉर्ड बन जाने से ग्राम पंचायतों को सम्पत्ति कर मिलने लगेगा। जो गांव के विकास में खर्च किया जाएगा।

क्या है आबादी भूूमि

भू-अभिलेख के एसएलआर डॉ. राकेश अहिरवार ने बताया कि गांवों में लोग पूर्वजों के जमाने से घर बनाकर रह रहे हैं। जहां वह रह रहे हैं उस जमीन से जुड़ा बहुत से ग्रामीणों के पास कोई दस्तावेज नहीं है। एक ही खसरा नंबर पर हजारों लोग बसे हैं। किसकी कितनी जमीन है? यह रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है। गांव की ऐसी ही जमीन को आबादी क्षेत्र कहते हैं। जहां अब स्वामित्व योजना के तहत मालिकाना हक दिया जाना है।

खबरें और भी हैं...