पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कैशलेस नेशनल हाईवे:8 माह में 31% बढ़े फास्टैग वाहन, अब भी 5% गाड़ियां अपडेट नहीं, 1 सप्ताह बाद इनकी लेनबंदी

संदीप तिवारी | सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सागर जिले के चितौरा, तीतरपानी, मालथौन, सीहोरा टोल पर लागू होगा नियम
  • चितौरा टोल पर जून में 64% वाहन फास्टैग से गुजरते थे, जनवरी में बढ़कर 95% हुए

नेशनल हाइवे टोल प्लाजा पर 15 फरवरी से फास्टैग अनिवार्य होने जा रहा है। ऐसा होते ही बिना फास्टैग वाले वाहन यहां से नहीं निकल पाएंगे। या तो उन्हें मौके पर ही फास्टैग लगवाना पड़ेगा अन्यथा उन्हें वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि अभी जो एक-एक लाइन कैश वालों के आवागमन के लिए चल रही हैं, वह बंद हो जाएंगी।

इससे पहले 1 दिसंबर 2019, 31 मार्च 2020, 31 दिसंबर 2020 को भी फास्टैग लागू करने की अंतिम अवधि तय की गई, जो बाद में आगे बढ़ती रही है। फिलहाल 15 फरवरी 2021 अंतिम तारीख तय की गई है। जानकारी के मुताबिक पिछले 8 माह में टोल प्लाजा से निकलने वाले वाहनों में फास्टैग लगवाने वालों की संख्या 31% तक बढ़ी है। जून 2020 तक जहां 64% वाहन चालक ही फास्टैग का उपयोग करते थे। उनकी संख्या 31 जनवरी 2021 तक बढ़कर 95% तक हो गई है।

अकेले चितौरा टोल प्लाजा से हर दिन औसतन 6 हजार तो माह भर में 1.80 लाख वाहन निकलते हैं। सागरवासियों के लिए देवरी-नरसिंहपुर तरफ जाने के लिए चितौरा, तीतरपानी में टोल प्लाजा पड़ेगा तो ललितपुर मार्ग पर मालथौन तो राहतगढ़-भोपाल मार्ग पर सीहोरा के पास टोल प्लाजा पड़ेगा। चूंकि यह एनएच हैं, लिहाजा इन पर बिना फास्टैग के वाहन नहीं निकल सकेंगे। जबकि गढ़ाकोटा-दमोह, सागर-जैसीनगर मार्ग स्टेट हाइवे होने के कारण इन टोल प्लाजा पर कैशलाइन बंद नहीं होंगी। फिलहाल यहां फास्टैग अनिवार्य नहीं हैं।

फास्टैग से लाभ: फास्टैग पर 2.5% कैश बैक मिल रहा है। इसके साथ वाहन कतार में नहीं लगाने पड़ते है। 5-10 सेकंड में बिना रुके गाड़ी टोल से निकल जाती है। हर टोल से गुजरने पर रजिस्टर्ड नंबर पर मैसेज आता है, जिससे लोकेशन मिलती है। यह उनके लिए फायदेमंद है, जिनके वाहन ट्रेवल्स में हैं।

फास्टैग में समस्या: फास्टैग को लेकर शिकायतें आती हैं। कुछ वाहन चालकों के साथ यह हुआ कि उनका पैसा कट गया और आगे वाला वाहन निकल गया और बैरियर बंद हो गया। बाद में बहस की स्थिति बनी तब समस्या सुलझी, इसमें समय की बर्बादी हुई। कुछ के फास्टैग रीड होने में वक्त लगा और वाहन को ज्यादा वक्त तक रुकना पड़ेगा।

सरकारी, प्राइवेट बैंक और कुछ ऑनलाइन एप से लोग फास्टैग खरीद सकते हैं। साथ ही सभी टोल पर भी फास्टैग उपलब्ध हैं। विभिन्न बैंकों और कंपनियों द्वारा अपने प्रतिनिधि बैठाए हैं ताकि लोग परेशान न हों।

यह है फास्टैग
फास्टैग एक प्रकार का टैग या चिप है जिसे कार की विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है। इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन का इस्तेमाल होता है। जैसे ही आपकी गाड़ी टोल के पास आती है, यहां लगा सेंसर वाहन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर आपके फास्टैग अकाउंट से प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है।

फास्टैग अकाउंट के लिए जरूरी
अकाउंट खोलने के समय फॉर्म के साथ कुछ दस्तावेज जमा करना पड़ेंगे। इनमें वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र, वाहन मालिक का पासपोर्ट फोटो एवं केवाईसी दस्तावेज और एड्रेस प्रूफ शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें