पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर से मारपीट:जैसीनगर में मरीज के परिजन ने बीएमओ से की मारपीट, कमर की हड्डी में फ्रेक्चर

सागर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीएमओ डॉ. जेएस धाकड़ से बुरा बर्ताव, जमीन पर लिटाकर पीटते रहे परिजन

जैसीनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. जेएस धाकड़ को बुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है। घटना शनिवार रात 8 बजे की है, जिसमें गुस्साए परिजनों ने डॉक्टर को करीब 10 मिनट तक जमीन पर डालकर इतना पीटा की उनकी पैर व कमर की हड्डियां टूट गईं। दर्द से कराह रहे डॉक्टर ने प्रशासनिक अधिकारियों को फोन लगाया। जिसके बाद उन्हें पहले बीएमसी लाया गया और फिर एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया लेकिन यहां भी कमर का ऑपरेशन संभव नहीं हो सका। ऐसे में अब परिजन उन्हें इलाज के लिए भोपाल लेकर जा रहे हैं। वहीं डॉक्टरों ने हड़ताल भी शुरू की है।

मंत्री जी के ड्राइवर होने की धमकी देकर लात-घूसे मारने में लगे थे आरोपी
डॉ. जेएस धाकड़ के बेटे अभिषेक ने जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार सुबह पिताजी सागर में मीटिंग के लिए गए थे। जहां से लौटने के बाद उन्होंने एक पोस्टमार्टम किया और फिर कोरोना केयर सेंटर में मरीज देखे। इस बीच उन्हें खाना खाने का भी मौका नहीं मिला। रात 8 बजे कुछ लोग 50 वर्षीय महिला को लेकर अस्पताल पहुंचे। पिताजी ने उनसे खाना खाने के लिए दो मिनट रुकने की बात कही। इसके बाद जब वे क्वार्टर की ओर जाने लगे तो चार लोग पीछे आए और उन्हें धक्का दे दिया। जैसे ही पिताजी जमीन पर गिरे तो उन्हें लात-घूसे मारने लगे। इस दौरान उन्होंने खुद को मंत्री जी का ड्राइवर भी बताया। पिताजी उनके सामने हाथ-जोड़ते रहे, लेकिन वे निर्दयी उन्हें पीटते रहे। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी को लगी और वे जब तक मौके पर पहुंचे आरोपी भाग चुके थे।

कोविड से लेकर बीएमओ तक सभी जिम्मेदारी एक ही डॉक्टर पर
डॉ. जेएस धाकड़ 17 साल से जैसीनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सेवाएं दे रहे हैं। ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर की जिम्मेदारी भी आई गई। इस बीच विभाग ने यहां एमबीबीएस डॉक्टर पदस्थ किए, लेकिन एक भी डॉक्टर नहीं टिक सका। स्थिति यह है कि पिछले कई महीनों से डॉ. धाकड़ मेडिकल ऑफिसर, कोविड इंचार्ज और बीएमओ समेत कई जिम्मेदारियां अकेले ही संभाल रहे हैं। उनके बेटे बताते हैं कि कई बार पिताजी रात को 3 बजे भी मरीजों को देखने के लिए खड़े रहे हैं, लेकिन उनकी इतने साल की सेवाओं का ये सिला मिला।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें