• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Katra Became A Laboratory, Fruit vegetable Carts Moved 25 Times In 15 Years, The Situation Remains The Same Even Today

अधूरी प्लानिंग:कटरा बना प्रयोगशाला, 15 साल में 25 बार हटे फल-सब्जी के ठेले, हालात आज भी जस के तस

सागर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फल हाथ-ठेले वालों को सब्जी मंडी में आवंटित की गई थी दुकानें, अधिकांश अभी भी कटरा बाजार में ही जमे।  - Dainik Bhaskar
फल हाथ-ठेले वालों को सब्जी मंडी में आवंटित की गई थी दुकानें, अधिकांश अभी भी कटरा बाजार में ही जमे। 

शहर के मुख्य बाजार तीनबत्ती और कटरा में पिछले 15 साल से प्रयोग किए जा रहे हैं। इस बीच लगभग 25 बार कटरा बाजार से फल और सब्जी के ठेले हटाए जा चुके हैं। लेकिन हालात आज भी जस के तस हैं। यहां ट्रैफिक सुधार, पार्किंग, फुटपाथ और सौदर्यीकरण के नाम पर अलग-अलग जनप्रतिनिधि करोड़ों रुपए खर्च कर चुके हैं।

सड़कों पर लगी दुकानों, ठेले वाले और फुटपाथों पर खड़ी कारों जैसी समस्याओं पर ठोस नतीजेे अभी तक नहीं निकल पाए हैं। एक बार फिर कटरा बाजार में ट्रैफिक की समस्या को हल करने के लिए अब फल हाथ-ठेले, मनहारी और चाट ठेले वालों की शिफ्टिंग का प्लान बनाया गया है। इस मामले में नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस विभाग द्वारा पहले भी कार्रवाई की जा चुकी है, लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है।

कटरा बाजार में ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए बनाए गए प्लान में नगर निगम पूरी तरह से फेल हो गया है। मॉनिटरिंग नहीं होने की वजह से फिर जाम जैसी स्थिति बन रही है। न तो म्युनिसिपल स्कूल में अभी तक हाथ ठेले वाले शिफ्ट हो पाए हैं और न ही फुटपाथ पर लगने वाली मनहारी की दुकानों को साबूलाल मार्केट।

कटरा बाजार में ट्रैफिक को लेकर फिर जस की तस हालात होने लगे है। उधर, नगर निगम ने रिमूवल टीम के कुछ कर्मचारियों की अलग-अलग समय पर ड्यूटी कटरा में लगाकर खाना पूर्ति कर दी गई है। सड़कों और फुटपाथ पर लगी हुई दुकानों से ट्रैफिक अभी भी बाधित हो रहा है। उधर, बीते दिनों फल वालों को सब्जी मंडी में शिफ्ट करते हुए दुकानें आवंटित की गई थीं, उनके हाथ-ठेले भी कटरा में ही लग रहे हैं। अधिकारी भी जल्द कार्रवाई करने का कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं।

ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति हो रही- कटरा बाजार में सड़कों पर खड़े वाहन तो मस्जिद से राधा तिराहे तक सड़क किनारे लगे हुए हाथ ठेले वालों की वजह से ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति बन जाती है। इतना ही नहीं पुलिस द्वारा सड़कों पर रखे हुए वाहनों पर चालानी कार्रवाई तो की जा रही है, लेकिन वाहन फिर आकर वहीं लग जाते हैं।

डेढ़ दशक से चल रहे प्रयोग, नहीं निकला कोई हल

  • बाजार होने के बाद भी पार्किंग के लिए कहीं नहीं है स्थान
  • हाथ ठेलों और सब्जी वालों का नहीं निकाल पाए स्थाई हल
  • अतिक्रमण और रोड चौड़ीकरण की नहीं हो पाई कार्रवाई

रोड पर हाथ ठेले और वाहन पार्किंग से बिगड़ी कटरा बाजार की ट्रैफिक व्यवस्था

1. दुकानों के बाहर खड़े स्थाई वाहन : दुकानों के बाहर खड़े स्थाई वाहन पार्किंग के लिए चालान बनाने की प्लानिंग की गई, लेकिन अधिकांश वाहन म्युनिसिपल स्कूल में लगने लगे जो अब स्थाई तौर पर वहीं खड़े हो रहे हैं।

2. मार्किंग लेन और डिवाइडर पोल : ट्रैफिक की व्यवस्था में सुधार के लिए मार्किंग लेन और डिवाइडर पोल भी लगाए गए थे, जो वाहन की वजह से टूट चुके हैं कुछ पोल तो उखड़ भी गए हैं।

3. फुटपाथ : कटरा बाजार में सभी मुख्य सड़कों पर पहले फुटपाथ बनाए गए, लेकिन बाद में उन्हें इसलिए हटा दिया गया कि उस पर दुकानें लगने लगीं। चूंकि अब फुटपाथ हट गए हैं तो अब उन पर वाहन खड़े होने लगे हैं।

4. फल हाथ-ठेले और चाट हाथ ठेले : फल हाथ ठेले वालों को पुरानी सब्जी मंडी में स्थान दिया गया है तो चाट वालों को म्युनिसिपल स्कूल में शिफ्टिंग का प्लान तैयार किया गया था, जो अधूरे हैं।

इस बार दिखेगा नतीजा कार्रवाई जारी है

कटरा बाजार की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए हाथ ठेले वालों की शिफ्टिंग का काम जारी है। इसके लिए निगम की टीम कार्रवाई कर रही है। टीम ठेले वालों को भी हटा रही है। इस बार नतीजा दिखेगा। -आरपी अहिरवार, नगर निगम आयुक्त

खबरें और भी हैं...