• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Keep Those Returning From The Journey Isolated For Seven Days, Big Programs And Fairs Will Not Be Held On Sankranti

कोरोना से जंग:यात्रा से लौटने वालों को सात दिन तक रखें आइसोलेट, बड़े कार्यक्रम और संक्रांति पर मेले नहीं होंगे आयोजित

सागर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के प्रभारी मंत्री अरविंद भदौरिया ने कोविड को लेकर कलेक्टोरेट में की समीक्षा। - Dainik Bhaskar
जिले के प्रभारी मंत्री अरविंद भदौरिया ने कोविड को लेकर कलेक्टोरेट में की समीक्षा।

कोविड संक्रमण को रोकने के लिए अन्य जिलों से आने वाले लोगों को 7 दिन के लिए आइसोलेट किया जाएगा। इसके साथ ही अब कोई भी बड़ा आयोजन नहीं होगा। संक्रांति पर जिले में मेले भी आयोजित नहीं किए जाएंगे। जिले के प्रभारी मंत्री अरविंद भदौरिया ने शुक्रवार को कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि रोको-टोको अभियान का कड़ाई से पालन कराएं। इसके साथ ही जिले की सभी ग्राम पंचायतों में भी कोविड केयर सेंटर जैसी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

मंत्री भदौरिया ने 15-18 वर्ष के बच्चों के वैक्सीनेशन में मध्य प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर कलेक्टर दीपक आर्य सहित सभी अधिकारियों की सराहना की। बैठक के बाद मंत्री ने बीड़ी अस्पताल में बनाए गए कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने सभी 100 बेड पर ठंड को ध्यान में रखते हुए कंबल या रजाई लगाने के लिए भी कहा। 24 घंटे एंबुलेंस व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही शिफ्ट वाइज डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी लगाई जाए।

संक्रमण रोकने मंत्री ने दिए ये निर्देश

  • सागर नगर सहित सभी ग्राम पंचायतों में भी कोविड केयर सेंटर स्थापित करें।
  • बाहर से आने वाले व्यक्तियों को एक सप्ताह के लिए आइसोलेट करें।
  • कोविड सेंटर में आवश्यक मूलभूत सुविधाएं जैसे दवाइयां, पेयजल, चाय, नाश्ता, खाना की उचित व्यवस्था की जाए।
  • जिले में कोई भी बड़ा आयोजन व ज्यादा भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम न करें।

बीना में ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट जल्द करें शुरू

मंत्री ने कहा कि बीना में ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट को जल्द शुरू करें। सागर नगर सहित संपूर्ण जिले में फीवर क्लीनिकों को फिर से प्रारंभ किया जाए। उन्होंने टेस्टिंग, सैंपलिंग एवं ट्रीटमेंट पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। मंत्री ने सभी निजी अस्पताल संचालकों से अपील की कि वे प्रशासन का सहयोग करें और आयुष्मान योजना के तहत चिन्हित किए गए अस्पताल योजना का लाभ देते हुए पीड़ित व्यक्तियों का इलाज करें।

सभी अस्पतालों के मुख्य गेट पर लिए जाने वाली शुल्क का विवरण साफ अक्षरों में चस्पा किया जाए। बैठक में सांसद राजबहादुर सिंह, विधायक शैलेन्द्र जैन, नरयावली विधायक प्रदीप लारिया, बंडा विधायक तरवर सिंह सहित अन्य नेता व अधिकारी मौजूद रहे। बीड़ी अस्पताल के बाद मंत्री मकरोनिया पहुंचे।

यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण कर कहा कि स्वास्थ्य केंद्र में भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जाए। जिसके माध्यम से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई की जाए। उन्होंने क्षेत्र वासियों की सुविधा के लिए फीवर क्लीनिक प्रारंभ करने व स्वास्थ्य केंद्र में पर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने व्यवस्थाएं करने के लिए कहा।

जनप्रतिनिधि और भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री से की डीईओ की शिकायत

स्कूल शिक्षा विभाग में हुआ नियम विरुद्ध तबादलों का मामला एक बार फिर तूल पकड़ गया है। शुक्रवार को प्रभारी मंत्री अरविंद भदौरिया के सागर पहुंचने पर सर्किट हाउस में विधायक से लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं और अन्य कई संगठनों ने न केवल नियम विरुद्ध तबादलों की शिकायत की बल्कि डीईओ के खिलाफ भी शिकायतें की गईं।

एक तरफ जहां भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना था कि जिला शिक्षा अधिकारी अजब सिंह पार्टी कार्यकर्ताओं से बात नहीं करते, वहीं विधायक प्रदीप लारिया ने एक शिक्षकीय शाला से हुए तबादलों के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित होने और ट्रांसफर के बाद रिलीविंग के लिए रूके शिक्षकों को वेतन न मिलने का मामला उठाया। जिसके बाद प्रभारी मंत्री अरविंद भदौरिया ने कलेक्टर दीपक आर्य को निर्देश देते हुए कहा कि जब तक शासन स्तर पर ट्रांसफर को लेकर निर्णय नहीं होता है तब तक इन्हें रिलीव न किया और वेतन दी जाए।

शिवसेना और अजाक्स ने भी की शिकायत
शिवसेना की ओर से पप्पू तिवारी ने ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि स्थानांतरित हुए शिक्षकों में जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा उन्हें मूल संस्था में ज्वाइन कराकर वेतन भुगतान कर दिया गया। लेकिन रहली और नरयावली विधानसभा क्षेत्र के शिक्षक अब भी भटक रहे हैं। चार माह से शिक्षकों का वेतन नहीं दिया गया।

ऐसे में शिक्षकों को घर चलाने के लिए उधार लेना पढ़ रहा है। वहीं अजाक्स के जिला अध्यक्ष हीरालाल चौधरी ने भी प्रभारी मंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए गंभीर रुप से बीमार शिक्षकों के तबादले कर उन्हें दूर गांव में पदस्थ करने पर आपत्ति जताई है। इस दौरान सतीश चौधरी, बसंत मौर्य, बद्रीप्रसाद अहिरवार व अनिल नागवंशी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...