सागर में खदान धंसने से युवक की मौत:मिट्टी खोदते समय खदान धंसी, 15 मिनट मलबे में दबा रहा मृतक, 3 घायल

सागरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खदान से घायलों को अस्पताल ले जाते हुए। - Dainik Bhaskar
खदान से घायलों को अस्पताल ले जाते हुए।

सागर जिले के रहली में मिट्टी की खदान धंसने से मलबे में दबे एक युवक की मौत हो गई। वहीं 3 युवक घायल हुए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं मृतक के शव का पंचनामा बनाकर पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया है।

सूचना के अनुसार नीतेंद्र उर्फ नित्तू पुत्र बिहारी होलकर (26) निवासी वार्ड क्रमांक-11 रहली अपने साथी राजेश रैकवार, आबिद खान और अभिषेक यादव के साथ सुनार नदी के बड़े पुल के पास मिट्टी खदान में खुदाई कर रहा था। नदी के किनारे मिट्टी की खुदाई करते समय अचानक खदान धंस गई और नीतेंद्र मिट्टी के मलबे के नीचे दब गया। वहीं राजेश, आबिद और अभिषेक चपेट में आने से घायल हो गए। घटनाक्रम देख आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और मलबा हटाने का काम शुरू किया।

इस मिट्टी की खदान में हुई युवक की मौत।
इस मिट्टी की खदान में हुई युवक की मौत।

इस दौरान नीतेंद्र करीब 15 मिनट तक मिट्टी में दबा रहा। जिससे उसकी मौत हो गई। लोगों ने नीतेंद्र को मलबे से बाहर निकाला और निजी वाहन से अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर रहली पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर मामले में मर्ग कायम किया है।

घटनास्थल पर विलाप करते हुए परिजन।
घटनास्थल पर विलाप करते हुए परिजन।

मलबे में दबा था, मिट्टी हटाकर निकाला
मृतक के परिवार के हरप्रसाद ने बताया कि सुबह से मिट्टी खदान पर मिट्टी लेने के लिए नीतेंद्र और अन्य युवक गए थे। खदान पर मिट्टी की खुदाई कर ट्राली भर रहे थे। तभी काम करते समय ऊपर से खदान धंस गई। इससे नीतेंद्र मलबे में दब गया। वह करीब 15 से 20 मिनट तक मलबे में दबा रहा। साथ वाले ने आसपास के लोगों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद लोगों ने मौके पर पहुंचकर मिट्टी हटाकर नीतेंद्र को तलाशा और बाहर निकाला।