• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Money Used To Block ATM's Shutter With A Screwdriver, When The Alarm Sounded, The Police Laid Siege, 7 Boxes Of Liquor And Tools Written By Katrina Confiscated From The Car

सागर में पकड़ाए हरियाणा के 3 जालसाज:ATM की शटर को पेचकस से ब्लॉक कर निकालते थे रुपए, अलॉर्म बजा तो पुलिस ने घेराबंदी कर दबोचा, केटरीना लिखी 7 पेटी शराब और औजार कार से जब्त

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोपालगंज पुलिस थाना। - Dainik Bhaskar
गोपालगंज पुलिस थाना।

सागर पुलिस ने एटीएम के शटर को पेचकस से ब्लॉक कर रुपए निकालने वाले हरियाणा के जालसाज गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की कार से पुलिस ने 6 एटीएम कार्ड, औजार और केटरीना लिखी 7 पेटी देशी शराब जब्त की है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

पुलिस के अनुसार पुलिस कंट्रोल रूम को एसबीआई बैंक द्वारा सूचना दी गई कि यादव कॉम्प्लेक्स वृंदावन गार्डन के पास स्थित एसबीआई के एटीएम में कुछ बदमाश छेड़छाड़ कर पैसे निकाल रहे हैं। सूचना मिलते ही कंट्रोल रूम से पुलिस टीमों को मौके पर भेजा गया। लेकिन आरोपी सफेद रंग की कार में मकरोनिया से सिविल लाइन की तरफ तेजी से भागे।

खबर मिलते ही थाना पुलिस, डायल-100 और मॉर्निंग गश्त वाहनों को अलर्ट किया गया। इसी दौरान पुलिस ने कार (टीओ 821-एचआर 6283) को गोपालगंज थाना क्षेत्र के शिवम कॉचिंग के पास घेराबंदी कर पकड़ा। कार से 3 बदमाशों को हिरासत में लिया गया। वहीं कार की तलाशी लेने पर 7 पेटी देशी शराब मिली। जिस पर केटरीना लिखा है। 1 पेटी अंग्रेजी शराब और एटीएम कार्ड, औजार मिले। तीनों बदमाशों को थाने लाकर पूछताछ की गई।
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हुई वारदात की पुष्टि
एडिशनल एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा ने सोमवार रात मामले का खुलासा करते हुए बताया कि मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी आजाद पुत्र अली शेख, आसिफ पुत्र असुद्दीन खान और असलम पुत्र आजम खान सभी निवासी पहाड़पुर जिला पलबल हरियाणा के खिलाफ गोपालगंज थाने में आबकारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। वहीं एटीएम से छेड़छाड़ कर रुपए निकालने के मामले में एसबीआई बैंक अधिकारी शैलेन्द्र साहू निवासी सूबेदार वार्ड की शिकायत पर मकरोनिया थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।

पूछताछ में आरोपियों ने एटीएम से रुपए निकालने की बात स्वीकार की है। वे पेचकस से एटीएम की शटर को ब्लॉक करके रकम निकालते थे। निकाली गई राशि किसी खातेदार के खाते से न कटकर सीधे एटीएम से बाहर आ जाती है। जिससे एटीएम के वेंडर को इसका नुकसान होता है। एटीएम के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों का मिलान और वारदात की पुष्टि की गई। मामले में आरोपियों से पूछताछ में अन्य वारदातों का भी खुलासा हो सकता है।

खबरें और भी हैं...