सागर में राशन दुकान संचालक पर धोखाधड़ी का केस:स्कूली बच्चों के लिए आई मूंग का नहीं किया वितरण, हितग्राहियों के अंगूठे लगवाकर 12 लाख का किया गबन

सागरएक महीने पहले
लिधौराहाट स्थित राशन दुकान।

सागर की शासकीय उचित मूल्य दुकान लिधौराहाट में अनियमितताएं सामने आई हैं। राशन दुकान पर स्कूली बच्चों के लिए आई मूंग संचालक ने हितग्राहियों के अंगूठे लगवाकर निकाल ली। लेकिन वितरण नहीं किया। नि:शुल्क राशन का भी हितग्राहियों को वितरण नहीं किया गया।

कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी ने राशन दुकान की जांच की तो करीब 12 लाख रुपए का गबन उजागर हुआ। जिसके बाद कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी चारू जैन ने बहेरिया थाना पहुंचकर शिकायत की। शिकायत पर पुलिस ने राशन दुकान संचालक शुभम वैष्णव और अमरजीत के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी चारू जैन ने बताया कि लिधौराहाट राशन दुकान की लगातार शिकायतें मिलने पर दुकान का निरीक्षण कर जांच की गई। संचालक शिवम वैष्णव और एफपी एस- 2 अमरजीत सिंह दुकान का संचालन लिधौराहाट में देवीसिंह के मकान में कर रहे थे। मौके पर दुकान के नाम का बोर्ड लगा मिला। मूल्य सूची खाली पाई गई।

निगरानी समिति का बोर्ड एवं खाद्यान्न सैंपल का प्रदर्शन नहीं किया गया था। संचालन स्थल पर रखे खाद्यान्न की गणना की गई। जिसमें 80 किलोग्राम बाजरा मिला। इसके साथ ही 3 बोरियों में कुल 1.35 किलोग्राम चावल रखा पाया गया। इसके अतिरिक्त शक्कर, नमक, गेहूं, मूंग, ज्वार, केरोसिन निरंक पाया गया।

नि:शुल्क राशन का नहीं किया गया वितरण
जांच के दौरान मौके पर उपस्थित हितग्राही सचिन लोधी, कैलाश लोधी, कल्याण सिंह आदि हितग्राहियों के कथन लिए गए। उन्होंने अपने कथनों में बताया कि शासकीय उचित मूल्य दुकान लिधौराहाट के विक्रेता शिवम ने जब से निःशुल्क राशन योजना शुरू हुई है, तब से एक बार निःशुल्क राशन का वितरण किया है। उसके अतिरिक्त कभी निःशुल्क राशन का वितरण नहीं किया गया है। केवल पैसे वाली योजना का राशन दिया है। माह जुलाई 2022 में भी पैसे वाला राशन दिया गया। विक्रेता मशीन में हर माह अंगूठा लगवा लेते हैं। लेकिन पूरा राशन नहीं देते हैं और ना ही मशीन की पर्ची देते हैं। शासकीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं को वितरण के लिए जो मूंग दुकान पर आई थी, उस पर भी केवल हितग्राहियों के अंगूठे लगवा लिए गए और मूंग वितरित नहीं की गई है।

दुकान पर मिले खाद्यान्न के स्टॉक एवं पीओएस मशीन में दर्ज स्टॉक की जांच की गई। जांच में दुकान में कई अनियमितताएं सामने आईं। वहीं करीब 12 लाख रुपए का गबन होना पाया गया। जिसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी जैन ने थाने पहुंचकर शिकायत की। बहेरिया थाना प्रभारी दिव्य प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि विभाग की शिकायत पर शासकीय उचित मूल्य लिधौराहाट के संचालक शिवम और अमरजीत के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। मामले में जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...