पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • More Than 10 Inches Of Rain Fell In Sagar District In 24 Hours, Crops Got Life, There Is A Possibility Of Rain Even Today

सागर में राहत की बारिश:24 घंटों में जिले 10 इंच से ज्यादा बारिश, मालथौन में सबसे ज्यादा 72 MMऔर सागर शहर में सबसे कम 2.6 MM बारिश; आज भी संभावना

सागर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सागर में सुबह से आसमान में छाए बादल। - Dainik Bhaskar
सागर में सुबह से आसमान में छाए बादल।

लंबे इंतजार के बाद सागर में बारिश का दौर शुरू हुआ है। मंगलवार से रुक-रुककर अलग-अलग हिस्सों में बारिश हो रही है। पिछले 24 घंटों में जिले में 267 मिमी यानी 10 इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई है। बारिश होने से सोयाबीन, धान, समेत अन्य फसलों को जीवनदान मिला है। क्योंकि बारिश पर लगे ब्रेक से फसलें मुरझाने लगी थी। वहींं, कुछ फसलें खराब होने के कगार पर पहुंच गई थी, लेकिन बारिश होने के बाद किसानों ने राहत की सांस ली है।

बुधवार को सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं। हवाएं चलने से वातावरण में ठंडक रही। वहीं दिन और रात के तापमान में गिरावट आई है। अधिकतम तापमान 28 डिग्री पर पहुंच गया है। जबकि तीन दिन पहले दिन का पारा 33 डिग्री के पार था। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को सागर जिले में बारिश की संभावना है। वहीं, 23 जुलाई को खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने के बाद अच्छी बारिश होने की उम्मीद है।

मालथौन में सबसे ज्यादा 72 तो सागर में 2.6 मिमी हुई बारिश
सागर जिले में बारिश के इस सीजन में अब तक 263 मिमी औसत बारिश हो चुकी है। जबकि पिछले वर्ष अब तक 258.25 मिमी औसत बारिश हुई थी। इधर, पिछले 24 घंटों में जिले के मालथौन में सबसे ज्यादा 72 मिमी बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा राहतगढ़ में 40 मिमी, रहली में 34 मिमी, बीना में 28.4 मिमी, जैसीनगर में 22 मिमी, बंडा में 21 मिमी, देवरी में 18 मिमी, केसली में 17 मिमी, खुरई में 11.2 मिमी, गढ़ाकोटा में 2.6 मिमी और सागर शहर में 2.6 मिमी बारिश हुई है।

मौसम में आगे क्या...
मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार वर्तमान में गुजरात के दक्षिणी भाग में हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात बना है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना है। इससे अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से आद्रता आने का सिलसिला शुरू हो गया है। मानसून ट्रफ का एक छोर बंगाल की खाड़ी में पहुंच गया है।

इससे रुक-रुककर बारिश का दौर शुरू हुआ है। बुधवार को सागर समेत अन्य हिस्सों में तेज बौछारें पडऩे की संभावना है। वहीं 23 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर का सिस्टम बनने की संभावना है। इसके बाद जुलाई के आखिर में झमाझम बारिश होने के संकेत है।

खबरें और भी हैं...