• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • No Strictness On The Crowd Of Yuva Morcha, Action On Only 492 People Without Masks, Hence The Corona Explosion

संक्रमण रोकने में जिला प्रशासन नाकाम:युवा मोर्चा की भीड़ पर सख्ती नहीं, बगैर मास्क के सिर्फ 492 लोगों पर कार्रवाई, इसलिए हुआ कोरोना विस्फोट

सागर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
8 जनवरी से बिना मास्क वालों के चालान काटे, 13 में से सिर्फ पांच दिन जांच। - Dainik Bhaskar
8 जनवरी से बिना मास्क वालों के चालान काटे, 13 में से सिर्फ पांच दिन जांच।

नए वर्ष की शुरुआत से ही जिले में कोविड संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है लेकिन इसके बाद भी शुरूआती एक हफ्ते तक प्रशासन ने सख्ती नहीं दिखाई। नतीजे ये रहा कि अब हर दिन नए कोविड मरीजों की संख्या सैकड़ा में पहुंच रही है। जिले में पिछले 14 दिनों में 1297 संक्रमित मरीज मिल चुके हैं लेकिन इसके बाद भी लापरवाही जारी है।

जनवरी के पहले सप्ताह में तो प्रशासन ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने एक भी कार्रवाई नहीं की। जब मरीज बढ़ने लगे तो आनन-फानन में पूरा महकमा 8 जनवरी को सड़कों पर उतर आया और कटरा बाजार में बिना मास्क के मिले 225 लोगों के चालन काटे गए। पिछले 13 दिन में सिर्फ पांच दिन बिना मास्क वालों पर कार्रवाई की गई है। जबकि सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन व दुकान के बाहर गोले बने न मिलने पर एक भी दुकानदार पर कार्रवाई नहीं की गई।

बिना मास्क वालों पर अब तक हुई कार्रवाई

  • 8 जनवरी- 225
  • 10 जनवरी- 60
  • 11 जनवरी-25
  • 12 जनवरी- 68
  • 13 जनवरी-114

न रैलियों पर प्रतिबंध, न ही यात्रियों की हो रही स्क्रीनिंग और बाजार में भीड़ से बढ़ रहा कोविड संक्रमण

मकरोनिया में 10 जनवरी को भाजपा युवा मोर्चा के द्वारा किए गए विरोध-प्रदर्शन के दौरान मंच पर लगी नेताओं की भीड़।

1. युवा मोर्चा की मानव श्रृंखला : कोविड मरीज मिलने के बाद भी 10 जनवरी को मकरोनिया में भाजपा युवा मोर्चा ने बिना अनुमति के विरोध-प्रदर्शन कर मानव श्रृंखला बनाई। इसमें भीड़ जुटाई और कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया।

रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को यात्रियों की स्क्रीनिंग नहीं की गई। यात्री बिना जांच के ही स्टेशन से बाहर निकलते रहे।

2. यात्रियों की स्क्रीनिंग तक नहीं की : बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन पर बाहर से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जानी थी। प्रभारी मंत्री भी इसके निर्देश देकर गए थे लेकिन अब तक बाहर से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग नहीं की जा रही।

नए बाजार के सामने टपरा मार्केट में कपड़ों की दुकानों पर लगी लोगों की भीड़। न मास्क न सोशल डिस्टेंस।

3. दुकानों में जमा हो रही भीड़ : संक्रमण बढ़ने के बाद भी बाजारों व दुकानों में लोगों की भीड़ लग रही है। नियम के तहत यदि दुकान के अंदर लोग बाहर से दिख रहे हैं तो जब तक वे बाहर न आ जाएं। तब तक नए ग्राहक को दुकान में प्रवेश नहीं करना चाहिए।

कटरा बाजार स्थित एक मेडिकल दुकान के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने गोले नहीं बनाए गए हैं।

4. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने गोले नहीं बनाए : लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए दुकानों के बाहर गोले अब तक नहीं बनाए गए हैं। लोग भीड़ लगाकर खड़े हो रहे हैं। दुकानदारों ने रस्सी व प्लास्टिक शीट भी नहीं बांधी है।

खबरें और भी हैं...