पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुरखी उपचुनाव:सुरखी में चुनावी शोरगुल थमने में अब 5 दिन बाकी

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो
  • 1 नवंबर से थम जाएगा चुनाव प्रचार, 3 को मतदान

सुरखी विधानसभा उपचुनाव के लिए 3 नवंबर को मतदान होना है। 1 नवंबर को शाम 5 बजे से शोरगुल के साथ चुनावी प्रचार थम जाएगा। इसके बाद प्रत्याशी बिना किसी तामझाम के घर-घर जाकर जनसंपर्क कर सकेंगे। ऐसे में अब सिर्फ अंतिम 5 दिन यानी 120 घंटे ही चुनावी प्रचार को रह गए हैं।

लिहाजा राजनैतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। इसके साथ ही अब बूथ स्तर पर कसावट तेज हो चली है। हालांकि भाजपा जहां पेज प्रमुखों की बड़ी फौज के साथ अंतिम तैयारियों में जुटी है। वहीं कांग्रेस अपनी रणनीति ज्यादा कुछ सार्वजनिक करने की जगह स्वयं को जनता के भरोसे मैदान में होने पर जोर दे रही है।

भाजपा: एक कार्यकर्ता को सौंपे 30 मतदाता

भाजपा ने बूथ स्तर के सम्मेलन कर लिए हैं। इसके साथ ही पेज-प्रमुख भी बनाए गए हैं। एक कार्यकर्ता को 30 मतदाताओं को वोटिंग के लिए प्रेरित करने और उन्हें मतदान केंद्र तक लाने की जिम्मेदारी दी गई है। इस प्रकार भाजपा संगठन की कोशिश अधिकतम मतदाताओं तक पहुंचने और उन्हें सरकार की योजनाएं गिनाकर भाजपा के पक्ष में मतदान कराने की है।

मतदान नजदीक आते ही अब पेज प्रमुखों से रोज फीडबैक लिया जा रहा है। नाराज मतदाताओं को मनाने में भी सब जुटे हुए हैं। इस प्रकार भाजपा कार्यकर्ता चुनावी मैदान में हर जगह अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। जिलाध्यक्ष गौरव सिरोठिया का कहना है कि बूथ, सेक्टर हर स्तर पर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की जिम्मेदारी संगठन की रणनीति के तहत तय की गई है।

कांग्रेस: जनता के भरोसे चुनाव मैदान में

वहीं कांग्रेस ने प्रदेश स्तर पर तो पेज प्रमुख जैसी व्यवस्था इस बार की है, लेकिन सुरखी में यह दिखाई नहीं दे रही है। चुनावी सभाओं में भीड़ को देखते हुए कांग्रेस यहां जनता भरोसे ही ज्यादा चुनाव लड़ रही है। पोलिंग बूथ पर कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी तो दी गई है, लेकिन ज्यादा कुछ सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है।

जिस प्रकार झंडे-बैनर और दीवार लेखन के मामले में कांग्रेस ने ज्यादा जोर नहीं दिया, ठीक वैसे ही यहां भी कांग्रेस अपनी रणनीति उजागर नहीं कर रही है। कांग्रेस प्रत्याशी पारुल साहू का कहना है कि संगठन के अलावा जनता के भरोसे हम यह चुनाव लड़ रहे हैं। हर बूथ पर बड़ी संख्या में लोग हमारे संपर्क में हैं, जो मतदान के दिन पार्टी का काम करेंगे। हमारी जो रणनीति है, वह प्रत्येक कार्यकर्ता को अच्छे से पता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें