• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Now, after completion of 10 days, the review committee can give leave by looking at X rays; After this, the patient will have to stay home for 14 days.

कोरोना मरीज की गाइडलाइन में बदलाव / अब 10 दिन पूरे होते ही रिव्यू कमेटी एक्स-रे देखकर दे सकती है छुट्‌टी ; इसके बाद मरीज को 14 दिन रहना होगा होम क्वारेंटाइन

X

  • दूसरी सैंपलिंग के बिना 3 मरीज डिस्चार्ज

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

सागर. बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज से शुक्रवार को तीन कोरोना पॉजिटिव मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। जिसमें एक भाग्योदय अस्पताल का एक्स-रे तकनीशियन, दूसरा सदर निवासी अहमदाबाद से लौटा युवक और तीसरा चनाटोरिया निवासी युवक शामिल है। इन तीनों को 10 मई को बीएमसी में भर्ती किया गया था। जिसके बाद बीएमसी से डिस्चार्ज हुए पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8 हो गई है। तीनों को डीन डॉ. जीएस पटेल और कोरोना सेंटर इंचार्ज डॉ. रमेश पांडे, अधीक्षक डॉ. एसके पिप्पल और डॉ. मनीष जैन आदि ने तालियां बजाकर विदाई दी। डॉ. पांडे ने बताया कि हाल ही में कोरोना की गाइडलाइन में बदलाव किया गया है। जिसके तहत अब पॉजिटिव मरीज को 7 दिन बाद बगैर जांच केवल एक्स-रे कराकर डिस्चार्ज किया जा सकता है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को 4 पॉजिटिव मरीजों को डिस्चार्ज किया जाना था, लेकिन रिमझिरिया निवासी पॉजिटिव की एक्स-रे रिपोर्ट में डॉक्टरों को खामी नजर आई और रिव्यू कमेटी ने डिस्चार्ज से इंकार कर दिया। अब मरीज का दो दिन बाद दोबारा एक्स-रे किया जाएगा। यदि रिपोर्ट ठीक रही तो इन्हें भी डिस्चार्ज किया जा सकता है।

सदर कंटेनमेंट: डीएनसीबी की स्कूल आइसोलेशन वार्ड में तब्दील
सदर के कंटेनमेंट एरिया को कवर करने के लिए अब डीएनसीबी स्कूल को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया है। इस नए सेंटर में अब सदर समेत आसपास के इलाके के लोगों को आइसोलेट किया जाएगा। जिन लोगों में काेरोना के लक्षण दिखेंगे। उनका यहीं से सेम्पिल लिया गया जाएगा। इधर कंटेनमेंट जोन में बीते 24 घंटे में चार लोगाें की मृत्यु हो गई। जानकारी के अनुसार के अनुसार ये सभी पहले से बीमार थे। सभी मृतक 50 साल से ज्यादा उम्र के हैं।
कैंट बोर्ड ऑफिस के सीईओ राजीवकुमार का कहना है कि हम लोग प्रयास कर रहे हैं कि इस क्षेत्र में महामारी के संक्रमण को जल्द से जल्द रोका जाए। गाइडलाइन के अनुसार पाॅजिटिव के कॉन्टेक्ट और उसके भी कॉन्टेक्ट में रहने वालों को तो जिला प्रशासन द्वारा टीबी और बीड़ी अस्पताल में आइसोलेट किया जा रहा है। लेकिन सुपर लोअर कॉन्टेक्ट वाले लोग हैं, वे घरों में क्वारंटीन हैं। ऐसे लोगों को हम इस आइसाेलेशन वार्ड में शिफ्ट करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना