• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Nurses On A Symbolic Strike For Pending Demands, Also Worked So That Patients Do Not Suffer

नर्सों के विरोध का छठवां दिन:लंबित मांगों को लेकर सांकेतिक हड़ताल पर रही नर्सें, काम भी किया ताकि मरीजों को परेशानी न हो

सागरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक हड़ताल पर मौजूद नर्सेज।  - Dainik Bhaskar
सांकेतिक हड़ताल पर मौजूद नर्सेज। 

लंबित मागों को लेकर विरोध सप्ताह मना रही नर्से विरोध प्रदर्शन के छठवें दिन सोमवार को सांकेतिक हड़ताल पर रहीं। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर और जिला अस्पताल की नर्से जिला अस्पताल के बाहर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक सांकेतिक हड़ताल के रूप में धरने पर बैठीं। इसमें ड्यूटी पर तैनात नर्सों को शामिल नहीं किया गया। ताकि मरीजों को कोई परेशानी न हो। इस दौरान नर्सों ने मांगों को लेकर स्वास्थ्य मंत्री के नाम अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा और मांगें जल्द पूरी करने की मांग की।

यहां बता दें उच्च स्तरीय वेतनमान, पदनाम परिवर्तन, मेल फीमेल नर्स के बाद नर्सिंग ऑफिसर कहा जाए, कोरोना के समय मृत्यु के बाद उनके परिवार को अनुकंपा नियुक्ति, 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा से सम्मानित किया जाए, 2 माह का अग्रिम वेतनमान और काफी समय से रुकी हुई मेल नर्से की भर्ती शुरू की जाए जैसी मांगों को लेकर प्रदेश समेत सागर की नर्से 9 जून से विरोध सप्ताह मना रही हैं। रोजाना अलग-अलग तरीकों से सरकार से अपील कर मांगें पूरी करने की मांग कर रही हैं। इस दौरान कार्यकारी अध्यक्ष राजीव गुप्ता, उपाध्यक्ष किशन गुर्जर, संगठन सचिव मुकेश परिता आदि मौजूद रहे।

नर्सिंग एसोसिएशन सागर की जिलाध्यक्ष किरण तिवारी ने बताया कि नर्सों की लंबित मांगों को लेकर विरोध सप्ताह मनाया जा रहा है। सोमवार को सांकेतिक हड़ताल की गई है। इसके बाद भी यदि सरकार नर्सों की मांगें नहीं मानती है तो मंगलवार 15 जून को 2 घंटे के लिए नर्सेज द्वारा सभी कार्य बंद रखा जाएगा।

मांगों को लेकर आवेदन सौंपते एसोसिएशन के पदाधिकारी।
मांगों को लेकर आवेदन सौंपते एसोसिएशन के पदाधिकारी।
खबरें और भी हैं...