• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Old People Returned From Abroad, 38 New Positives Including Three MBBS Girl Students Were Found, 76 Cases In 6 Days

2022 का पहला विस्फोट:विदेश से लौटे वृद्ध, एमबीबीएस की तीन छात्राओं सहित 38 नए पॉजिटिव मिले, 6 दिन में 76 केस

सागर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में भीड़ रही। लोगों में न सोशल डिस्टेंस है और न ही मास्क लगा रहे है। - Dainik Bhaskar
बाजार में भीड़ रही। लोगों में न सोशल डिस्टेंस है और न ही मास्क लगा रहे है।
  • अब तक नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की पुष्टि नहीं, लेकिन संक्रमण की रफ्तार तेज

आखिरकार कोरोना ने सागर शहर को फिर चपेट में ले लिया। साल 2022 का पहला सप्ताह भी नहीं निकल पाया था कि कोरोना विस्फोट हो गया। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब से गुरुवार को 38 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें विदेश से लौटे व्यक्ति और बीएमसी में एमबीबीएस की तीन छात्राएं शामिल हैं।

जनवरी के 6 दिन के भीतर 76 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। इन्हें मिलाकर जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 17001 पर पहुंच गया है। वायरोलॉजी लैब की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को सामने आए कोरोना पॉजिटिव मरीजों में बीएमसी में एमबीबीएस की तीन छात्राएं, विदेश से लौटे कटरा निवासी 68 वर्षीय वृद्ध, राजस्व एवं परिवहन मंत्री के कार्यालय में 62 और 58 वर्षीय दो कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

मकरोनिया में सात कोरोना संक्रमित मिले

सबसे अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज मकरोनिया क्षेत्र में मिले हैं। इनमें शंकरगढ़ में 17 वर्षीय बालिका, गौर नगर में 30 वर्षीय युवक, मकरोनिया में 15 वर्षीय बालिका, बटालियन में 18 वर्षीय युवक, आनंद नगर में 35 वर्षीय पुरुष, पद्माकर नगर में 29 वर्षीय युवती और विद्यापुरम कॉलोनी 26 वर्षीय युवती की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।

इनके अलावा सत्यम नगर तिली वार्ड में 25 और 24 वर्षीय तीन युवक, श्रीराम नगर गोपालगंज में 51 वर्षीय महिला, सदर में 18 वर्षीय युवती, तुलसीनगर में 45 वर्षीय महिला, सुभाष नगर में 26 वर्षीय महिला और रायसेन निवासी 22 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

इधर, जिले में कुल संक्रमित मरीज का आंकड़ा 17 हजार के पार, दूसरे पीक में मिले थे 16000 केस

38 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों को मिलाकर जिले में कुल संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 17 हजार के पार पहुंच गया है। जबकि मार्च 2021 तक जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 6123 थी, लेकिन दूसरे पीक यानी अप्रैल और मई माह में 10 हजार से अधिक नए संक्रमित मरीज मिले।

24 मई को जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 16 हजार पर पहुंचा था। इसके बाद कोरोना का डाउनफाल आया और 7 माह में एक हजार पॉजिटिव मिले। इनमें सबसे अधिक 350 मरीज सिर्फ जून माह में थे और इसके बाद जनवरी 2022 में अब तक 76 मरीज सामने आए हैं।

सर्दी-खांसी होने पर जांच में देरी न करें, बड़े आयोजनों से बचें

जिले में कोविड संक्रमण फिर तेजी से बढ़ रहा है। गुरुवार को 38 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। जनवरी के 6 दिन में अब तक 76 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। तीसरी लहर के आसार बनने लगे हैं। इसलिए अब भी मौका है ऐसा कोई कार्य न करें जिससे कोविड संक्रमण फैले।

तीसरी लहर को रोकने के लिए कोविड प्रोटोकॉल को पूरी तरह अपनाएं। मास्क, सैनिटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन करें। सर्दी-खांसी व हल्का बुखार होने पर जांच में देरी न करें और बड़े आयोजनों में जाने से या उन्हें आयोजित करने से बचे।

तीसरी लहर को रोकने वे 5 काम जो न करें

जांच में देरी न करें : यदि बॉडी में हल्का बुखार और सर्दी-खांसी के थोड़े भी लक्षण महसूस हों तो जांच कराने में जरा भी देरी न करें। सैंपल देने के बाद जांच रिपोर्ट आने तक सेल्फ क्वारेंटाइन हो जाएं। लोगों के संपर्क में न आए। यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आए तो कॉन्टैक्ट में आए सभी लोगों के नाम बताएं ताकि उन्हें भी आइसोलेट किया जा सकें।

कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन न करें

कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन न करें। मास्क का उपयोग करें, भीड़भाड़ में जाने से बचे, हाथों को लगातार साफ करते रहे और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

कंटेनमेंट को न तोड़े: प्रशासन द्वारा बनाए गए कंटेनमेंट जोन का पूरी तरह पालन करें। कंटेनमेंट को न तोड़े। जो मरीज होम आइसोलेट हैं। वे आइसोलेशन का पूरी तरह पालन करें। होम आइसोलेशन के दौरान घर के बाहर न घूमे और दूसरे लोगों तक संक्रमण न फैलाएं।

बड़े आयोजन न करें : कुछ समय के लिए घर व अन्य स्थानों पर ऐसे कार्यक्रम न करें जिनमें अधिक भीड़ उमड़े और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न हो पाए। बड़े आयोजन व कार्यक्रमों से बचने का प्रयास करें।

प्रशासनिक लापरवाही न हो : तीसरी लहर को रोकने के लिए प्रशासन को हर जरूरी इंतजाम तुरंत कर लेना चाहिए। गाइडलाइन व कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाएं। अस्पतालों व कोविड केयर सेंटर में मरीजों को एडमिट करने में लेट-लतीफी न हो। बेड, ऑक्सीजन और दवाओं का पर्याप्त इंतजाम होना चाहिए।

तीसरी लहर को रोकने वे 5 काम जो जरूर करें

यात्रा से लौटने पर आरटीपीसीआर टेस्ट कराएं : यदि आप बाहर से यात्रा करके लौट रहे हैं तो बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन से स्क्रीनिंग कराने के बाद ही बाहर निकलें। इसके साथ ही उसी दिन आरटीपीसीआर टेस्ट भी जरूर कराएं। जहां संक्रमण ज्यादा, वहां जाने से बचे : ऐसे एरिया जहां संक्रमण तेजी से फैल रहा है। उन एरिया में जाने से बचे। यदि किसी काम से, किसी मरीज के साथ या उसे देखने अस्पताल या कोविड केयर सेंटर जा रहे हैं। तो वहां पूरी तरह सुरक्षा अपनाएं। सीधे लोगों के संपर्क में न आए।

कंटेनमेंट के उल्लंघन पर प्रशासन को दें सूचना : आपके क्षेत्र में यदि कोई मरीज या उसके परिजन होम आइसोलेशन के दौरान कंटेनमेंट का उल्लंघन कर रहा है तो इसकी सूचना 1075 पर कॉल कर प्रशासन को जरूर दें।

सैनिटाइजर व मास्क अपने साथ रखें : घर से बाहर निकलते समय सैनिटाइजर व मास्क अपने साथ हमेशा रखे। व्यापारी भी दुकान पर आने वाले ग्राहकों को सैनिटाइजर व मास्क वितरित करें। यदि किसी भी शॉप में बाहर से अंदर कस्टमर खड़े दिख रहे हैं तो तब तक अंदर प्रवेश न करें जब तक अंदर के व्यक्ति बाहर न आ जाएं।

योग व व्यायाम करें, प्रोटीन युक्त डाइट लें : इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए प्रोटीन युक्त भोजन करें। भूखे बिल्कुल भी न रहें। भूखे रहने से इम्युनिटी कमजोर होती है। शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए सुबह से योग व व्यायाम जरूर करें।

खबरें और भी हैं...