• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • On Getting Positive, Now Micro Containment Zones Will Be Built In The Streets, Movement Will Be Closed For 10 Days

कोरोना से जंग:पॉजिटिव मिलने पर अब गलियों में बनेंगे माइक्रो कंटेनमेंट जोन, 10 दिन तक आवाजाही होगी बंद

सागर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के 48 वार्डों में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए नगर निगम ने तैयार किया प्लान

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए नगर निगम अब पिछले साल की तर्ज पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाना शुरू कर दिया है। यह केवल उन्हीं इलाकों में तैयार किए जा रहे हैं, जहां कोरोना का संक्रमण ज्यादा है। हाल में शहर में 4 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए भी जा चुके हैं। जिसमें कुछ घरों को बैरिकेडिंग करते हुए कंटेनमेंट क्षेत्र (प्रतिबंधित क्षेत्र) बनाया गया है।

इन इलाकों में क्यूआर टीमों की मानिटरिंग के साथ नगर निगम के सफाई दरोगा की निगरानी कर रहे हैं। अधिकारियों का दावा है कि पिछले साल इसी तरह बढ़ते संक्रमण पर काबू किया था। नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार ने पिछले दिनों अफसरों की बैठक लेकर माइक्रो कंटेनमेंट की प्लानिंग पर काम करने के लिए कहा है। उन्होंने शहर के सभी वार्डों में ऐसे स्थानों को चिह्नित करने के लिए कहा है। जहां कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित लोग पाए गए है।

यह बनाए गए माइक्रो कंटेनमेंट जोन

शिवाजी वार्ड : यश विहार कालोनी तिली अस्पताल के पीछे रूद्राक्ष गार्डन के सामने वाली गली में राजू वैध के मकान से लेकर यदु यादव के मकान तक और शिवराज सिंह कालोनी में एक मकान को माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया गया।
वृंदावन वार्ड : केपी जैन के मकान से चंद्रकुमार जैन के घर तक।
मोतीनगर वार्ड : बालमुकुंद पटेल के घर से संतोष जैन तक।

बेरिकेडिंग के पार नहीं जा सकते लोग
माइक्रो कंटेनमेंट जोन में लोगों की आवाजाही नहीं होगी। उससे दूसरे स्थानों पर संक्रमण नहीं फैलेगा। उधर, रोजमर्रा जैसी सब्जी किराना, दूध, दवाइयों आदि की सप्लाई बेरिकेडिंग के इस पार से ही की जाएगी। इलाकों की निगरानी के लिए टीमें भी तैयार की गई हैं, जो समय-समय पर मानिटरिंग करेगी। उधर, जोन से कचरा भी बेरिकेडिंग के बार से उठाया जाएगा।

जहां ज्यादा संक्रमण वहां कंटेनमेंट जोन

कोरोना पर नियंत्रण के लिए यह माइक्रो कंटेनमेंट जोन तैयार किए गए हैं। ताकि संक्रमण व्यक्ति से कोई अन्य संक्रमित न हो। लोगों से अपील है कि ऐसे जोन से लोग बाहर न निकलें। वहीं जहां ऐसे जोन की जरूरत के लिए भी लोग कंट्रोल रूम फोन कर सकते हैं।
- आरपी अहिरवार, निगमायुक्त, सागर

जहां ज्यादा पॉजिटिव, वहां सख्ती से बनाएं कंटेनमेंट, सैनिटाइजेशन; कलेक्टर ने संक्रमण रोकने के दिए निर्देश

ऐसे क्षेत्र जहां कोरोना संक्रमण के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं। वहां सख्ती के साथ कंटेनमेंट बनाकर कार्रवाई की जाए। इन क्षेत्रों में किसी भी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। संक्रमित क्षेत्र में रहने वाले सभी लोगों का सख्ती से घर के अंदर रहना सुनिश्चित कराएं वरना कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यह बात कलेक्टर दीपक सिंह ने बुधवार को नगर निगम, रैपिड रिस्पांस टीम व मेडिकल मोबाइल यूनिट की समीक्षा करते हुए कही।

कलेक्टर ने कहा कि संक्रमित क्षेत्रों में नगर निगम सैनिटाइजेशन कराएं, महिला बाल विकास व स्वास्थ्य विभाग की टीमें सर्वे व सैंपलिंग बढ़ाई जाए। लोगों को समय पर मेडिकल किट प्रदान की जाए। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण मिल रहे हैं। उन्हें पूरी ताकत के साथ एसवीएन, बीड़ी अस्पताल, तिली व आर्मी अस्पताल के कोविड सेंटर में भर्ती किया जाए। जिससे संक्रमण की चेन टूट सके।
नियम तोड़ने वाले 150 लोगों को भेजा खुली जेल
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए नियम तोड़ने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। बुधवार को शहरी क्षेत्र व मकरोनिया में 150 लोग गाइड लाइन का उल्लंघन करते मिले। जिन्हें पकड़कर खुली जेल भेजा गया। सिटी मजिस्ट्रेट सीएल वर्मा ने बताया कि 150 लोगों पर धारा 151 के तहत कार्रवाई की गई है।

खबरें और भी हैं...