पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आत्मनिर्भर अमृत महोत्सव योजना:सागर और दमोह की प्याज को मिलेगी पहचान, होगी ब्रांडिंग

सागर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सागर में 9927 हैक्टेयर रकबा में प्याज का उत्पादन किया जा रहा है - Dainik Bhaskar
सागर में 9927 हैक्टेयर रकबा में प्याज का उत्पादन किया जा रहा है

जिले में प्याज उत्पादकों के लिए उनको आत्मनिर्भर बनाने के लिए उपयुक्त बाजार उपलब्ध कराया जाएगा। सागर की प्याज की पहचान के लिए ब्रांडिंग भी की जाएगी। यह बात कलेक्टर दीपक सिंह ने एग्रीकल्चर प्रोडक्ट डेवलपमेंट अथॉरिटी वर्चुअल कांफ्रेंस के माध्यम से विभिन्न अधिकारियों को दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि समस्त प्याज उत्पादकों की उद्यानिकी विभाग के माध्यम से पंजीयन किए जाएं वह सूची तैयार की जाए।

कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों के माध्यम से तकनीकी मार्गदर्शन लेने के लिए प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाए। जिसमें जिले के प्याज उत्पादकों को आमंत्रित किया जाए। केंद्र सरकार की आत्मनिर्भर अमृत महोत्सव योजना के तहत मध्यप्रदेश में 3 जिलों का चयन किया गया है।

जिसमें सागर, दमोह और इंदौर शामिल है। सागर में 9927 हैक्टेयर रकबा में प्याज का उत्पादन किया जा रहा है। इस मौके पर उद्यानिकी विभाग के उपसंचालक एसके रेजा, कृषि विभाग के उपसंचालक बीएल मालवीय, कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. एके त्रिपाठी, लीड बैंक मैनेजर दीपेंद्र यादव आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...