• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Oxygen Will Be Arranged In 200 Beds In BMC, RTPCR Test Will Be Done For 3 Thousand People Daily

कोरोना संक्रमण को लेकर सागर प्रशासन अलर्ट:​​​​​​​BMC में 200 बिस्तरों पर होगी ऑक्सीजन की व्यवस्था, 3 हजार लोगों की रोज कराई जाएगी RTPCR जांच

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लेते कलेक्टर। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लेते कलेक्टर।

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की आहट और संभावित कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सागर प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया है। कोरोना से निपटने के लिए जिले में पर्याप्त इलाज की व्यवस्थाएं की जा रही हैं। संभावित कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सागर संभाग कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज (बीएमसी) में 200 और बिस्तरों पर ऑक्सीजन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

साथ ही उन्होंने संभाग में प्रतिदिन 3 हजार से अधिक लोगों की आरटीपीसीआर जांच कराए जाने की बात कही है। वहीं बीएमसी के सभी कार्यों के प्रत्येक प्रभारी और जिम्मेदार व्यक्तियों के कार्यों की समीक्षा की जाए। बीएमसी में एक अतिरिक्त ऑक्सीजन पीएसी प्लांट स्थापित किया जाए। साथ ही बिजली व्यवस्था और फायर उपकरणों की नियमित जांच करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर ने अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया
कलेक्टर दीपक आर्य, एसपी अतुल सिंह ने बुधवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों के साथ जिला अस्पताल में लगे ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लिया। 1000 मीट्रिक टन क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट से जिला अस्पताल के वार्डों में ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी। वार्ड तैयार होते ही ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था शुरू होगी। प्लांट तैयार है। कलेक्टर आर्य ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, मास्क लगाने और वैक्सीन के दोनों डोज लगवाने की अपील की है।
ऑक्सीजन की उपलब्धता और दवाइयों की स्थिति देखी
संभाग आयुक्त शुक्ला ने बीएमसी के मेडिसिन व शिशु रोग विभाग, ओपीडी, आईपीडी, दवाइयों की स्थिति, बायोलॉजी लैब, ऑक्सीजन की उपलब्धता और फायर सेफ्टी, इलेक्ट्रिकल ऑडिट की समीक्षा की। उन्होंने अस्पताल के शिशु गहन चिकित्सा इकाई (एसएनसीयू), आईसीसीयू और अन्य वार्डों का निरीक्षण कर विद्युत व्यवस्था और चिकित्सा उपकरणों को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए। अस्पताल की बिजली व्यवस्था और फायर उपकरणों का संचालन व संधारण करने वाले अधिकारी-कर्मचारी उनकी नियमित रूप से जांच करें। खराब या टूट-फूट वाले उपकरण, विद्युत लाइनों को तत्काल प्रभाव से सुधरवाने के निर्देश दिए है।

खबरें और भी हैं...