• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Parents spoke to the team to stop the marriage: Madam let the marriage happen, the boy is very stubborn

बाल विवाह / शादी रोकने पहुंची टीम से बोले माता-पिता : मैडम विवाह हो जाने दो, लड़का बहुत जिद्दी है

Parents spoke to the team to stop the marriage: Madam let the marriage happen, the boy is very stubborn
X
Parents spoke to the team to stop the marriage: Madam let the marriage happen, the boy is very stubborn

  • गौरझामर और देवरी में हो रहे थे दो बाल विवाह, टीम ने रोके
  • 17 वर्षीय लड़की का 22 वर्षीय लड़के से हो रहा था विवाह

दैनिक भास्कर

May 19, 2020, 06:51 AM IST

सागर. जिले के गौरझामर और देवरी में हो रहे दो बाल विवाह विशेष किशोर पुलिस इकाई की टीम ने रोक दिए हैं। दोनों विवाह में टीम सात फेरे होने से पहले पहुंची और विवाह रोक दिए। इकाई की ज्योति तिवारी ने बताया कि मुखबिर ने गौरझामर गांव में पुलिस थाने के पीछे नाबालिग जोड़े का विवाह होने की सूचना दी थी। टीम तुरंत मौके पर रवाना हो गई। गौरझामर थाने से पुलिस स्टाफ को लेकर टीम लड़का पक्ष के घर पहुंची। यहां पुलिस थाने के पीछे ही वरमाला की तैयारी चल रही थी। मौके पर पुलिस को देखते ही रिश्तेदार यहां-वहां छिप गए। टीम ने लड़के के माता-पिता को बुलाया और उम्र संबंधी दस्तावेज मांगे। अंकसूची देखने पर लड़के की उम्र 19 वर्ष निकली। जबकि पड़ोस में ही रहने वाली दुल्हन की उम्र 17 वर्ष थी। इस पर लड़के के माता-पिता कहने लगे कि लड़के की जिद के कारण शादी हो रही है। राेते हुए उन्होंने बताया कि मैडम शादी हो जाने दो लड़का बहुत जिद्दी है। शादी नहीं की तो कुछ कर लेगा। टीम ने लड़के को समझाइश दी और कहा कि लड़के की शादी की उम्र 21 वर्ष है तथा लड़की की 18 वर्ष है। इसके पहले शादी करना कानूनन अपराध है। शादी की तो सभी लोग जेल चले जाओगे। इसके बाद लड़का बालिग होने के बाद शादी करने के लिए तैयार हो गया। 

17 वर्षीय लड़की का 22 वर्षीय लड़के से हो रहा था विवाह
टीम यहां कार्रवाई से फुरसत भी नहीं हुई थी कि देवरी में बाल विवाह होने की सूचना मिली। टीम तुरंत देवरी पहुंची। यहां लड़की का विवाह गौरझामर के पटेल मोहल्ला निवासी लड़के से तय हुआ था। परिवार के लोग और रिश्तेदार गौरझामर रवाना होने की तैयारी कर रहे थे। लड़की की शादी की तमाम रस्में पूरी हो चुकी थीं। टीम ने लड़की के दस्तावेज चैक किए तो उसकी उम्र 17 वर्ष निकली। इस पर टीम ने उसके माता-पिता को समझाइश दी कि लड़की अभी नाबालिग है। यह विवाह नहीं हो सकता। इस पर पिता कहने लगे कि मैडम शादी कर लेने दो, विदा नहीं करेंगे। बहुत मुश्किल से शादी पक्की हुई है। टीम ने अगले साल विवाह करने की समझाइश दी तो वह तैयार हो गए। टीम में मुकेश यादव, वर्षा ठाकुर, योगेश राठौर तथा गौरझामर और देवरी थाने की पुलिस शामिल थी। 

आंधी के कारण 1 घंटे रोड पर खड़ी रही टीम
सागर से रवाना हुई टीम सुरखी पहुंची थी कि तेज आंधी चलने लगी। धूल के गुबार के कारण सड़क पर कुछ दिखाई नहीं दे रहा था। लिहाजा करीब 1 घंटे तक टीम सागर-नरसिंहपुर फोरलेन पर सड़क किनारे खड़ी रही। आंधी थमने के बाद बारिश होने लगी। इसके बाद टीम गौरझामर रवाना हुई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना