पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पटवारी पर आरोप:पटवारी पर सरकारी जमीन पर प्लाटिंग कराने के आरोप, टीम मौके पर पहुंची

सागर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सागर| शिकायत के बाद मौके पर जांच करने पहुंची टीम। - Dainik Bhaskar
सागर| शिकायत के बाद मौके पर जांच करने पहुंची टीम।

मकरोनिया में एक पटवारी पर करोड़ों रुपए की सरकारी जमीन पर प्लाटिंग कराने के आरोप लगे हैं। जिसकी शिकायत कलेक्टर से लेकर लोकायुक्त व इनकम टैक्स तक में की जा चुकी है। सवालों के घेरे में गंभीरिया के हल्के नंबर 76 के पटवारी अखिलेश जैन आए हैं। उन पर आरोप है कि उन्होंने भू-माफिया के साथ मिलकर सरकारी रिकॉर्ड में हेर-फेर कर खसरा नंबर 363 और 308 में दर्ज सरकारी तालाब की जमीन पर कई मकान बनवा दिए। करीब 5 एकड़ सरकारी जमीन माफिया के हवाले कर दी है।

कलेक्टर से शिकायत करने वाले गणेशराम पटैल ने बताया कि पटवारी अखिलेश जैन उक्त हल्का में करीब 20 वर्षों से पदस्थ हैं। जो भू-अभिलेखों के साथ छेड़छाड़ कर काफी भ्रष्टाचार कर रहे हैं। जिसकी पूर्व में भी कई किसानों द्वारा शिकायतें की जा चुकी है। इनकम टैक्स में शिकायत करने वाले एडवोकेट नागेन्द्र गुप्ता ने बताया कि पटवारी ने शासन की भूमि बेचकर करीब 10 करोड़ की अवैध चल-अचल संपत्ति अर्जित की है। जिसकी तुरंत जांच की जाए।

प्रभारी एसडीएम सीएल वर्मा ने गठित की जांच टीम

पटवारी के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद मकरोनिया के प्रभारी एसडीएम सीएल वर्मा ने एक पांच सदस्यीय दल मामले की जांच के लिए गठित किया था। जिसमें दल प्रभारी राजस्व निरीक्षक राजेश प्रधान को बनाया गया व टीम में अन्य हल्कों के चार पटवारियों को शामिल किया गया। जिन्होंने सोमवार को मौके पर जाकर जांच की। टीम देर शाम तक शासकीय जमीन की नपाई करती रही। आसपास के लोगों के कथन भी लिए गए।
व्यक्तिगत नाराजगी के चलते कर रहे शिकायतें
टीम जांच करने आई थी। कुछ लोगों के अतिक्रमण थे। उनकी रिपोर्ट पहले से है। जिसमें न्यायालय में सुनवाई चल रही है। शेष जमीन खाली पड़ी है। गणेश पटैल की मुझसे व्यक्तिगत नाराजगी है। फर्जी रजिस्ट्री के मामले उनका प्रकरण मेरे प्रतिवेदन के आधार पर खारिज हो चुका है। वे दवाब डालकर गलत काम कराना चाह रहे थे। जो मेरे द्वारा नहीं किए गए। इस वजह से शिकायतें कर रहे हैं। - अखिलेश जैन, पटवारी गंभीरिया

प्राथमिक जांच में अतिक्रमण पाया गया
पटवारी अखिलेश जैन के खिलाफ गंभीरिया के खसरा नंबर 363, 368 की सरकारी जमीन पर प्लाटिंग व रोड डालने की शिकायत मिली थी। जिसके आधार पर जांच दल द्वारा सोमवार को मौके पर जाकर जांच की गई है। प्राथमिक जांच में शासकीय जमीन पर अतिक्रमण पाया गया है। हालांकि इस संबंध में न्यायालय में पूर्व से प्रकरण चल रहे हैं। मुझे जांच प्रतिवेदन अभी तक नहीं मिला है। जांच में जो निष्कर्ष निकलेगा उसके आधार पर आगे कार्रवाई करेंगे। - सोनम पाण्डेय, तहसीलदार, मकरोनिया

खबरें और भी हैं...