• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Planning To Make Rajiv Nagar Ward Of The City Self sufficient, Will Process The Garbage From Where It Comes Out

स्वच्छता सर्वेक्षण -2022:शहर के राजीवनगर वार्ड को आत्मनिर्भर बनाने की प्लानिंग, जहां से कचरा निकला वहीं प्रोसेस करेंगे

सागर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हमारी गली सबसे स्वच्छ थीम पर मोहल्ला समितियों ने भी तैयार किया प्लान। - Dainik Bhaskar
हमारी गली सबसे स्वच्छ थीम पर मोहल्ला समितियों ने भी तैयार किया प्लान।

शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 के लिए तैयारियां शुरू की जा रही है। इसके तहत टूलकिट का ड्राॅफ्ट केंद्र सरकार की ओर से नगर निगम को भेज दिया गया है। इस बार स्वच्छता को लेकर होने वाली परीक्षा में कुछ और पाॅइंट भी जोड़े जा रहे हैं। सर्वे में कम से कम एक वार्ड को आत्मनिर्भर बनाना होगा। यानी उस वार्ड में जितना गीला कचरा निकलता है।

उस पूरे कचरे को उसी वार्ड में प्रोसेस करने की व्यवस्था करना होगी। इसके लिए वार्ड की कॉलोनियों में एसटीपी लगाना होंगे। सभी होटल और दूसरे बल्क वेस्ट जनरेटर के भी कचरे की प्रोसेसिंग की भी व्यवस्था करना होगी। सार्वजनिक स्थानों पर जनरेट होने वाले वेट वेस्ट की प्रोसेसिंग के लिए भी वार्ड के भीतर ही इंतजाम करना होगा।

यह सब सिटीजन इंगेजमेंट यानी नागरिकों के सहयोग से करना है और इस साल पूरा करने की प्लानिंग है। इसी के लिए इस बार नगर निगम ने ऐसे वार्ड को चिह्नित कर लिया है, जिसे आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। स्वच्छता सर्वे में सिटीजन इंगेजमेंट को बढ़ाया जा रहा है। इसी के तहत आत्मनिर्भर वार्ड का कॉन्सेप्ट लाया गया है।

निगमायुक्त आरपी अहिरवार ने बताया कि राजीवनगर वार्ड को आत्मनिर्भर बनाने की प्लानिंग शुरू कर दी है। इसके तहत प्लानिंग की जा रही है कि कैसे कचरे को वार्ड में ही निष्पादित किया जा सके। इसके साथ ही मोहल्ला समितियों के माध्यम से हमारी गली, सबसे स्वच्छ थीम पर भी प्लान तैयार किया जा रहा है। ताकि अन्य वार्डों में स्वच्छता को लेकर काम किया जा सके। समितियों के माध्यम से लोगों में स्वच्छता को लेकर जागरूक करने का काम भी किया जा रहा है।

सार्वजनिक आयोजन जीरो वेस्ट प्लास्टिक होंगे

शहर को वोकल फॉर लोकल के कॉन्सेप्ट के साथ लोकल आर्टिस्ट को स्वच्छता एंबेसडर बना दिए गए हैं। थर्ड जेंडर को भी इस अभियान से जोड़ना है। शहर में सिटीजन इंगेजमेंट से ही कोई एक बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम जीरो वेस्ट कॉन्सेप्ट पर करने की प्लानिंग की जा रही है। वहीं सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को रोकना, गीला और सूखा कचरा अलग-अलग कलेक्ट करन इसमें शामिल किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...