• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Prohibited Commercial Garba, Will Not Be In Hotel garden, Permission Will Have To Be Taken For Garba Of A Particular Society

गाइड़लाइन जारी:व्यावसायिक गरबे प्रतिबंधित, होटल-गार्डन में नहीं होंगे, समाज विशेष के गरबे की लेना होगी अनुमति

सागर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गरबे में डीजे-साउंड नहीं बजा सकेंगे, सिर्फ ढोल-मृदंग की थाप पर होंगे

नवरात्र में इस बार फिर बड़े व व्यापारिक गरबे नहीं होंगे। प्रशासन ने शहर के होटल-गार्डन में होने वाले गरबों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है। सिर्फ समाज विशेष के गरबों को ही अनुमति दी जाएगी। इसके लिए भी उन्हें पहले आवेदन करना होगा। समाज विशेष के गरबे भी सिर्फ सार्वजनिक स्थानों पर ही हो सकेंगे। इनमें भी साउंड-डीजे का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे।

गरबा पूरी तरह निशुल्क रहेगा। किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। व्यावसायिक या गरबे को लाभ का धंधा बनाने वाली समितियों के गरबे को प्रशासन ने पूरी तरह बैन कर दिया है। अनुमति के लिए आवेदन भी वही समितियां कर सकेंगी जो इन नियमों का पूरी तरह पालन करती हों।

मुहल्ले-कॉलोनियों में भी गरबे हो सकेंगे। इनमें दूसरे इलाके के लोग शामिल नहीं होंगे। गरबा शाम 6 से रात 10 बजे तक अधिकतम 50 लोगों की उपस्थिति में ही आयोजित किए जाएंगे। अनुमति लेने वाली समिति को ही वॉलेंटियर की ड्यूटी लगाकर ऐसे गरबों में व्यवस्था बनानी होगी।

इस तरह के गरबे पूरी तरह रहेंगे बंद

  • होटल, गार्डन में गरबा आयोजित नहीं होंगे।
  • किसी भी प्रकार के व्यापारिक या व्यावसायिक गरबे नहीं होंगे।
  • डीजे, साउंड व अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्र पूरी तरह वर्जित रहेंगे।
  • जिन गरबों में किसी भी प्रकार का शुल्क लिया जाता है। वे नहीं होंगे।
  • विभिन्न समाजों व क्षेत्रों के लोग जिन गरबों में शामिल होते हैं वे इस बार नहीं होंगे।

गरबे के लिए इन नियमों का करना होगा पालन

  • किसी विशेष समाज, एक मुहल्ले या कॉलोनी के लोग ही शामिल होंगे।
  • गरबा ढोल-मृदंग की थाप पर शाम 6 से रात 10 बजे तक ही होगा।
  • कार्यक्रम स्थल पर लाइटिंग की पर्याप्त व्यवस्था होना चाहिए।
  • समिति ही वॉलेंटियर की ड्यूटी लगाकर व्यवस्थाएं बनाएगी।
  • गरबे स्थल के आसपास शराब की दुकान या पान-गुमटी नहीं होना चाहिए।

अनुमति लेने की यह रहेगी प्रक्रिया

प्रशासन द्वारा तय नियमों का पालन करने वाली समितियों को सबसे पहले सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय में आवेदन करना होगा। आवेदन में गरबा करने वाले प्रतिभागियों के आधार व आईडी कार्ड भी संलग्न करने होंगे। इसके बाद तय नियमों के तहत आवेदन की जांच कराई जाएगी। इसके बाद ही गरबे के आयोजन की अनुमति दी जाएगी।

समाज विशेष के गरबे में 50 लोग शामिल होंगे

शहर में किसी भी प्रकार के व्यापारिक गरबे नहीं होंगे। सिर्फ समाज विशेष या मुहल्ले-कॉलोनी के लोगों तक सीमित गरबे ही हो सकेंगे। इसके लिए भी पहले आवेदन करना होगा। परीक्षण के बाद ही अधिकतम 50 लोगों के साथ रात 10 बजे तक ही गरबे की अनुमति दी जाएगी।
- सीएल वर्मा, सिटी मजिस्ट्रेट

एक दिन पहले नियम तय करना प्रशासन की खामी
पब्लिक प्लेस से होटल ज्यादा सेफ हैं। पब्लिक प्लेस में हम किस-किस को मना करेंगे? वहां सभी तरह के लोग अाएंगे। प्रशासन की ये लापरवाही है कि नवरात्र के एक दिन पहले नियम तय किए जा रहें हैं। गरबा संचालकों ने तैयारी 20 दिन पहले शुरू कर दी थी। अब इस निर्णय से उनका मनोबल टूटेगा।
- शैलेष नामदेव, गरबा आयोजक

खबरें और भी हैं...