पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अवैध कटाई:राहतगढ़ के जंगल से सागाैन की तस्करी, 10 से ज्यादा पेड़ कटे, भाेपाल तक सप्लाई

सागर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सागर| रसूलपुर के अलावा एरन, भानगढ़, लालबाग के जंगल में पेड़ों पर चली कुल्हाड़ी के निशान। - Dainik Bhaskar
सागर| रसूलपुर के अलावा एरन, भानगढ़, लालबाग के जंगल में पेड़ों पर चली कुल्हाड़ी के निशान।
  • रसूलपुर के अलावा एेरन, भानगढ़, लालबाग बीट क्षेत्र में पेड़ काटे

विश्व पर्यावरण दिवस पर पाैधराेपण की औपचारिकताओं के बीच दक्षिण वनमंडल के राहतगढ़ वन परिक्षेत्र में सागाैन की अवैध कटाई चलती रही। यहां की विभिन्न बीटाें से सागाैन के 10 से ज्यादा पेड़ काटे गए हैं। वन विभाग इसकी जांच करा रहा है। राहतगढ़ में अच्छी क्वालिटी का माेटा तने वाला सागाैन पाया जाता है।

फर्नीचर, दरवाजे, खिड़की अादि के लिए इसकी डिमांड दूर-दूर तक है। रायसेन, भाेपाल तक के सागाैन तस्कर यहां सक्रिय हैं। जानकारी के अनुसार हाल ही में राहतगढ़ वन परिक्षेत्र की रसूलपुर बीट से तस्कर सागाैन के पुराने पेड़ राताें-रात काटकर ले गए। माैके पर ठूंठ दिख रहे हैं। कुछ अधकटे पेड़ भी देखे जा सकते हैं।

रसूलपुर के अलावा एरन, भानगढ़, लालबाग बीट क्षेत्र से भी पहले सागाैन के पेड़ काटे गए थे। रविवार काे डिप्टी रेंजर अहिरवार जायजा लेने पहुंचे थे। उन्हाेंने अभी अपनी रिपाेर्ट नहीं दी। राहतगढ़ के जंगलाें से सागाैन की अवैध कटाई के तार रायसेन व भाेपाल तक जुड़े हुए हैं। डिमांड पर सागाैन तस्कर राताें-रात पेड़ काटकर ले जाते हैं। बीट प्रभारी से वसूली हाेगी: राहतगढ़ के रेंजर सर्वेश साेनी का कहना है कि सागाैन के काटे गए पेड़ पहले के हैं। इन्हें रिकाॅर्ड में दर्ज किया है। डिप्टी रेंजर व बीट प्रभारी से नए पेड़ काटे जाने की जानकारी लूंगा। साेमवार काे क्षेत्र का जायजा लेने जाऊंगा। जिम्मेदार बीट प्रभारी से नुकसान की भरपाई के लिए वसूली हाेगी।

खबरें और भी हैं...