बाजार खुलने का पहला दिन / सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुली दुकानें, संक्रमण के डर से पहले जैसी नहीं दिखी रौनक

Shops opened from 7 am to 7 pm, did not look like before fear of infection
X
Shops opened from 7 am to 7 pm, did not look like before fear of infection

  • कटरा में 2 बजे तक भीड़, छोटे मार्केट ग्राहकों का इंतजार करते रहे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

सागर. सरकारी फरमान जारी होते ही कटरा, बड़ा बाजार में अलग-अलग दुकान की शटरें खड़खड़ाहट के साथ उठ गईं। दो महीने बाद दुकान पर पहुंचे इन दुकानदारों के चेहरे पर कुछ चिंता तो कुछ चमक के भाव थे। चिंता ये थी कि क्या पहले जैसी ग्राहकी फिर जम पाएगी। सोशल डिस्टेंसिंग का कैसे पालन कराएंगे। वहीं चमक इस बात की थी कि उन्हें अपनी कारोबारी दुनिया में लौटने का मौका मिला था। इधर पहले दिन अधिकांश दुकानदार और उनके ग्राहक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने में चूकते रहे। ये स्थिति किराना, बेकरी दुकानों पर ज्यादा देखने मिली। मुख्य बाजार कटरा में दोपहर 11 से 2 बजे तक लोग पहुंचे,लेकिन बाद में सन्नाटा हो गया। वहीं निगम मार्केट, नया बाजार, गुजराती बाजार में कम ही ग्राहक पहुंचे। नया बाजार में सिर्फ दुकानदार ही दिखे,ग्राहक नहीं। 

कलेक्टर ने किसी भी मार्केट कॉम्प्लेक्स में 5 दुकान होने की स्थिति में उन्हें खोलने पर प्रतिबंध लगाया है। लेकिन शहर के अधिकांश दुकादार इस कॉन्सेप्ट को समझ नहीं पाए। नतीजतन कुछ ने आदेश के स्पष्ट होने के इंतजार में दुकान ही नहीं खोली। लेकिन अधिकांश ने जो होगा देखा जाएगा कि तर्ज पर दुकानें खोल ली। जानकारी के अनुसार नया बाजार की अधिकांश दुकानें, नगर निगम मार्केट, शास्त्री मार्केट, गेंडाजी काॅम्पलेक्स से लेकर सराफा बाजार की कई दुकानें इस नियम के तहत आती हैं। लेकिन ये सभी खुली रहीं। अपर कलेक्टर अखिलेश जैन का कहना है कि नगर निगम आदेश से प्रभावित मार्केट कॉम्पलेक्स की सूची बना रहा है। अब उसी के आधार पर दुकानें खोली जाएंगी।

सराफा
ग्राहकों की भीड़ की अपेक्षा केवल दुकानदार और कारीगर ही दुकानों पर काम करते हुए नजर आए। शाम के वक्त जरूर हल्की भीड़ बाजार में रही। उधर, इतवारा बाजार (सरस्वती मंदिर) के आसपास दुकानें सुबह से ही खुल गई थी। यहां लगने वाली सब्जी की दुकानों को पहले ही लगने से मना कर दिया गया था। बीच-बीच में पुलिस के वाहन भी यहां खड़े रहने वाले हाथठेले वाले को खदेड़ते नजर आए। हालांकि पुलिस के जाने के बाद वे फिर से जम गए। इतवारा बाजार में भी भीड़ आम दिनों की अपेक्षा कम ही नजर आई।

भगवानगंज में सुबह 7 बजे से ही दुकान खुलना शुरू हो गई थीं। 10.30 बजे तक सभी दुकानें खुल गईं थीं। परंतु यहां पर ग्राहकों की आवाजाही कम रही। किराने से लेकर मैकेनिकल और ऑटो पार्ट्स की सभी दुकानें दिनभर खुली रहीं परंतु यहां इक्का-दुक्का ग्राहकी आए। दुकानदार सुनील ठाकुर ने बताया कि दिन भर में मुश्किल से 30 ग्राहक ही आए। उधर राहतगढ़ बस स्टैंड मार्केट में भी कपड़े से लेकर किराना, इलेक्ट्रॉनिक की सभी दुकानें खुली रहीं। यहां भी दुकानदार ग्राहकों के इंतजार में रहे।

मकराेनिया व सिविल लाइंस के मार्केट खुले ताे लेकिन भीड़ नहीं दिखी। इक्का-दुक्का लाेग ही सामान ले जाते दिखे। गाैर करने लायक बात यह भी रही कि ग्राहक अाैर दुकानदार दाेनाें ही साेशल डिस्टेंस का पालन कर रहे हैं। मकराेनिया में दुकान के अागे दूरी बनाने के लिए टेबिल रख ली ताे किसी दुकानदार ने रस्सी बांध ली है। ग्राहक व दुकानदार मास्क में दिखे। यहीं स्थिति सिविल लाइंस चाैराहा व अासपास की दुकानाें की रही।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना