• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • The Amount Of 6 Lakhs Escaped From The Post Office By Handing Over A Fake Passbook To The Customer And Making A Forged Signature.

धोखाधड़ी का मामला:ग्राहक को नकली पासबुक थमाकर व जाली हस्ताक्षर कर डाकघर से 6 लाख की रकम निकाल हो गए फरार

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डाक विभाग में एजेंट बहन अपने भाई से कराती थी रुपयों का कलेक्शन। - Dainik Bhaskar
डाक विभाग में एजेंट बहन अपने भाई से कराती थी रुपयों का कलेक्शन।

सदर स्थित पोस्ट ऑफिस की एक महिला एजेंट ने अपने भाई के साथ मिलकर पोस्ट ऑफिस के ग्राहकों के साथ 6 लाख से अधिक की धोखाधड़ी की है। ग्राहकों का पैसे लेकर भाई-बहन परिवार के साथ भाग गए। भैंसा पहाड़ी स्थित उनके घर पर अब ताला लगा हुआ है। धोखाधड़ी के शिकार हुए लोग अब पोस्ट ऑफिस के चक्कर लगाकर अधिकारियों से लिखित में शिकायतें कर रहे हैं।

सदर स्थित पोस्ट ऑफिस के अधिकारियों ने ग्राहकों को धोखाधड़ी करने वाले इन एजेंट से सतर्क रहने के लिए एक सूचना भी कार्यालय में चस्पा कर दी है। इसके साथ ही यह मामला अब कैंट थाने पहुंच चुका है। सेना सेवानिवृत्त जीवन लाल अहिरवार ने बताया कि उन्होंने पोस्ट ऑफिस की एजेंट आरती राय से 3 लाख 75 हजार रुपए की एक फिक्स डिपॉजिट (एफडी) कराई थी।

कागजी कार्यवाही व पैसों की किश्त लेने का कार्य आरती अपने भाई राकेश राय से कराती थी। जीवन लाल ने बताया कि वे लंबे समय से एफडी कराए हैं और जो ब्याज की राशि मिलती थी। उसे मूल राशि में जुड़वाकर एफडी को आगे बढ़वा देते थे। एजेंट ने पिछले वर्ष एक फर्जी पासबुक बनवाकर जीवन को थमा दी और मूल खाते से फर्जी हस्ताक्षर के आधार पर राशि निकाल ली।

जीवन अपनी बेटी की शादी के लिए जब पैसे निकालने पोस्ट ऑफिस पहुंचे तो अधिकारियों ने बताया कि आपकी एफडी से 3 लाख 75 हजार रुपए निकल चुके हैं। सिर्फ 881 रुपए शेष हैं। जीवन लाल ने इस संबंध में कलेक्टर, प्रवर अधीक्षक, आईजी, एसपी से लिखित में शिकायत कर आरोपियों पर मामला दर्ज करने व उनके रुपए वापस दिलाने की मांग की है। एजेंट का मोबाइल नंबर भी बंद बता रहा है।

चैक पर अपना नाम डालकर निकाल लिए रुपए

सदर डाकघर के अधिकारियों ने बताया कि एजेंट आरती राय के खिलाफ एक शिकायत और मिली है। जिसमें शिकायकर्ता ने कहा है कि उससे 9 लाख व 2 लाख रुपए की एफडी बनाने के लिए दो अलग-अलग चैक लिए गए। इनमें से 9 लाख की एफडी तो कर दी गई, लेकिन दो लाख रुपए के चैक पर एजेंट ने अपना नाम डालकर बैंक से रकम निकाल कर धोखाधड़ी की। अधिकारियों ने बताया कि दोनों भाई-बहिन महीने भर में करीब 125 लोगों से रुपयों का कलेक्शन करते थे। अब कितने लोगों से रुपए लेकर भागे हैं? यह अभी नहीं कह सकते।

कई लोगों के साथ धोखाधड़ी के मामले सामने आए

एजेंट के भाई ने कुछ और लोगों के साथ भी धोखाधड़ी की है। लोगों से हर महीने एकत्रित होने वाले कलेक्शन के रुपयों में से भी कुछ पैसे लेकर भाग गया है। हर माह करीब 125 लोगों से रुपए एकत्रित करता था। उसके घर पर भी ताला लगा है। जांच करा रहे हैं।
- एम कुजूर, सब-पोस्ट मास्टर, सदर पोस्ट ऑफिस

एफडी कराने वाले के हस्ताक्षर से पैसे निकले

एफडी कराने वाले के हस्ताक्षर से ही पैसा निकला है। इसमें डाक विभाग का फॉल्ट नहीं है। एजेंट के भाई ने कस्टमर को भरोसे में लेकर धोखाधड़ी की होगी। दो शिकायतें मिली हैं। जिनकी जांच करा रहे हैं।
- एके जैन, प्रवर अधीक्षक, डाक विभाग

खबरें और भी हैं...