स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के कामों की समीक्षा:कलेक्टर ने कहा- इंबैंकमेंट में गति व गंगा मंदिर का काम भी जारी रखें

सागर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्मार्ट सिटी के कार्यों की कलेक्टर ने की समीक्षा, अफसरों को दिए निर्देश

कलेक्टर दीपक आर्य ने गुरूवार को स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के कामों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी परियोजनाओं के तहत हो रहे कामों की रोज मॉनिटरिंग की जाए। रोज का टारगेट सेट करें और उसी हिसाब से काम करें। बैठक में कलेक्टर आर्य ने लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना की समीक्षा के दौरान कहा कि सभी काम तय समय सीमा में पूरे होने चाहिए। जिन कामों को पूरा होने का समय 31 जनवरी तय है, उनकी रोज मॉनिटरिंग करें। इंबैंकमेंट के काम में और गति लाएं और गंगा मंदिर का काम भी साथ-साथ जारी रखें।

एसआर-1 की समीक्षा के दौरान उन्होंने धार्मिक स्थल और बिजली के खंभे शिफ्ट करने के निर्देश दिए। एसआर-2 के कामों की समीक्षा करते हुए उन्होंने पाइप लाइन शिफ्टिंग के कामों की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कल्वर्ट बनाने का काम भी जारी रखें। जिन स्थानों पर धार्मिक स्थल शिफ्ट किए जाने हैं, उनमें हवा और रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था होना चाहिए। एसआर-4 की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि पीलीकोठी के पास का घाट कम करना है। इसके लिए नीचे की ओर फिलिंग की जाए। इस दौरान उन्होंने संजय ड्राइव रोड, एसआर-3, एसआर-4 और एलिवेटेड कॉरिडोर परियोजनाओं की भी समीक्षा करते हुए काम प्रगति की जानकारी ली।

विश्वविद्यालय रोड की समीक्षा के दौरान उन्हें जानकारी दी गई कि सेल्फी प्वाइंट, पेवर ब्लॉक और लाइट लगाने का काम लगभग पूरा हो गया है। विश्वविद्यालय का गेट लगाने का काम भी चल रहा है। कलेक्टर ने कहा कि अब मौसम साफ हो गया है इसलिए डामरिंग का बकाया काम भी जल्द पूरा कर लें। इस दौरान उन्होंने सिटी स्टेडियम, 48 पार्क एंड प्ले एरिया, ट्रांसपोर्ट नगर प्रोजेक्ट की भी समीक्षा की। बैठक में सीईओ स्मार्ट सिटी राहुल सिंह राजपूत, सुप्रींटेंडेंट इंजीनियर अजय शर्मा, सीएफओ केपी श्रीवास्तव, सीएस रजत गुप्ता, हर्ष केशरवानी, अभिषेक सिंह राजपूत, अनिल शर्मा, प्रवीण चौरसिया आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...