• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • The Fire Continued Even After 36 Hours, Efforts To Raise Funds Of 21 Lakhs For The Card Merchant, Designing Will Start From Today

दानवीर सागर:36 घंटे बाद भी धधकती रही आग, कार्ड व्यापारी के लिए 21 लाख का फंड जुटाने का प्रयास, आज से शुरू हाेगा डिजाइनिंग

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक जैन ने दिए 51 हजार रुपए, कपिल मलैया ने दुकान शुरू करने 2 बड़े कमरे दिए। - Dainik Bhaskar
विधायक जैन ने दिए 51 हजार रुपए, कपिल मलैया ने दुकान शुरू करने 2 बड़े कमरे दिए।

वर्णी काॅलाेनी में शिल्पी कार्ड गैलरी की दुकान व गाेदाम में सुलगी आग 36 घंटे बाद भी धधकती रही है। मलबे में दबी आग काे बुझाने में गुरुवार काे करीब 10 दमकल पानी लगा। आग इतनी भीषण थी कि दुकान में रखा ऐसा काेई सामान नहीं बचा जिसे उपयाेग में लाया जा सके।

इस अग्निकांड में सबकुछ खाे चुके कार्ड व प्रिंटिंग व्यापारी दिनेश शिल्पी काे फिर से मार्केट में खड़ा करने के लिए सागर से एक अच्छी शुरुआत हुई है। जनसहयाेग से उन्हें आर्थिक मदद जुटाने के लिए शहर के लाेग बढ़चढ़कर आगे आ रहे हैं। शहर विधायक शैलेंद्र जैन ने 51 हजार रुपए व्यक्तिगत देने के अलावा शासन स्तर से हर संभव मदद दिलाने की घाेषणा की है।

वहीं समाजसेवी कपिल मलैया ने व्यापार शुरू करने के लिए वर्णी काॅलाेनी स्थित अपने दाे बड़े कमरे 2 महीने के लिए दिए हैं। अब तक करीब 16 लाख रुपए जमा हाे चुका है। दाे दिन में करीब 5 लाख रुपए और जुटाकर 21 लाख रुपए व्यापारी काे साैंपने का प्रयास है।

आज से कार्ड गैलेरी में डिजाइनिंग का काम होगा

शिल्पी कार्ड गैलरी के संचालक दिनेश शिल्पी ने बताया कि दुकान में रखे कम्प्यूटर व मशीनें पूरी तरह जल गईं हैं। पहले की तरह काम शुरू करने के लिए 80 लाख से ज्यादा की मशीनाें की जरुरत हाेगी। अभी कुछ भी नहीं बचा। मेरे एक सहयाेगी कम्प्यूटर दे रहे हैं। खाली पड़े दाे कमराें में शुक्रवार से डिजाइनिंग का काम शुरू कराएंगे, ताकि मेरे कर्मचारियाें की राेजी राेटी भी चल सके।

पुलिस की जांच शाॅर्ट सर्किट से आगजनी की तरफ

इस अग्निकांड काे लेकर पुलिस की जांच शाॅर्ट सर्किट की तरफ इशारा कर रही है। वहीं दुकान मालिक शिल्पी का कहना है कि मैन स्विच से लाइट बंद हाेने के बाद शाॅर्ट सर्किट से आग लगने की आशंका कम ही है। यह किसी की साजिश भी हाे सकती है। निगम के दमकल प्रभारी सईदउद्दीन कुरैशी ने बताया कि गुरुवार काे भी मलबे में दबी आग बार-बार धधक रही थी।

इन्हाेंने भी मदद के लिए बढ़ाया हाथ

94 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ताराचंद जैन 11000, अशोक पडे़ले ₹11000, राजकुमार पड़ेले 11000, अखिल जैन सीए 11000, डॉ महेंद्र जैन-डॉ पीयूष जैन 11000, वीरेंद्र जैन वीर गारमेंट 11000 की राशि देने की घाेषणा की है। अब तक 85 से अधिक समाजसेवियों ने कुल 16 लाख से ऊपर की राशि की घोषणा की है। उसमें से आधी राशि जमा भी हो गई है।

शेष 2 दिन में जमा हो जाएगी। मुकेश जैन ढाना ने बताया कि एक-दाे दिन में कुल 21 लाख रुपए आर्थिक मदद जुटाने का प्रयास है। देवेंद्र जैना स्टील, ऋषभ जैन लालो, सट्टू कर्रापुर, अनिल जैन, मनोज लालो, सौरभ उपकार, ऋतुराज जैन ने लोगों को मदद के लिए प्रेरित किया। कुछ समाजसेवी ऐसे भी हैं, जिन्होंने सीधे व्यापारी काे सहायता राशि देने का संकल्प लिया है।

खबरें और भी हैं...