• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Used To Break The Glass Of Cars Parked On The Road, Used To Pick Up Valuables, Arrested From Guna And Maharashtra

सागर पुलिस ने दबोचा अंतरराज्यीय चोर गिरोह:सड़क पर पार्क कारों के कांच फोड़ उठाते थे कीमती सामान, गुना और महाराष्ट्र से किया गिरफ्तार

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने दबोचे पांच चोर। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने दबोचे पांच चोर।

सागर पुलिस ने अंतरराज्यीय चोर गिरोह को दबोचा है। आरोपी सड़कों पर पार्क कारों के कांच फोड़कर कीमती सामान उड़ा ले जाते थे। 2 मई को सागर के भगवानगंज चौराहे के पास सड़क किनारे पार्क कार में रखा बैग आरोपी कांच फोड़कर ले भागे थे। बैग में 3.94 लाख रुपए रखे थे। फरियादी संजय जैन ने कैंट थाने पहुंचकर मामले में शिकायत की थी। इसके पहले आरोपियों ने गोपालंगज थाना क्षेत्र में बस स्टैंड के पास दो कारों से बैग चोरी किए थे। लेकिन उनमें कोई कीमती सामान नहीं था। इसलिए फरियादियों ने शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। वारदातें सामने आने पर पुलिस ने जांच शुरू की। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले गए। फुटेज में कुछ संदिग्ध नजर आए।

संदिग्धों की जानकारी निकाली तो वह जिले से बाहर के होना सामने आया। जांच के दौरान मिले साक्ष्यों के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश करते हुए गुना पहुंची। गुना में एक आरोपी को धरदबोचा। थाने लाकर पूछताछ की तो अंतरराज्यीय चोर गिरोह की परतें खुलना शुरू हो गई। पुलिस ने महाराष्ट्र में दबिश देकर गिरोह के चार अन्य सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। पांचों आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने लेटरपेड, रबर-सील, आधार-कार्ड एवं 1 लाख 86 हजार 70 नगद बरामद किए हैं। आरोपियों काे न्यायालय से जेल भेजा गया है।
कार्रवाई में ये आरोपी हुए गिरफ्तार
कैंट थाना प्रभारी गौरव सिंह तिवारी ने बताया कि पुलिस ने कार्रवाई करते हुए ज्योति नायडू पिता रामू नायडू उम्र 38 वर्ष, गणेश पिता विश्वनाथ नायडू उम्र 19 वर्ष, बालमुर्गन नायडू पिता नारायण नायडू उम्र 40 वर्ष, आर मुर्गम नायडू पिता आर मुत्थू नायडू उम्र 34 वर्ष, विश्वनाथ नायडू पिता नारायण नायडू उम्र 44 वर्ष सभी निवासी ग्राम बाकीपाडा पोस्ट करंजी खुर्द थाना नवापुर जिला नंदुरवार महाराष्ट्र को गिरफ्तार किया है। गिरोह का सरगना विश्वनाथ है। उसी के इशारों पर अन्य सदस्य चोरियां किया करते थे।
तीन राज्यों में चोरी की वारदातें करना कबूली
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह गांव से निकलकर अलग-अलग राज्यों में डेरो में रहते थे। डेरों में रहकर आसपास के जिलों में चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे। ताकि पुलिस की पकड़ में न आ सकें। आरोपी सड़कों पर पार्क कारों में रखे कीमती सामान की ही चोरियां किया करते थे। पूछताछ में आरोपियों ने मध्यप्रदेश के गुना, इटारसी, ग्वालियर, सागर में चोरी की वारदातें करना कबूली हैं। राजस्थान के धौलपुर और यूपी के इटावा, आगरा, बनारस समेत अन्य स्थानों पर चोरी करना कबूल किया है। मामले में पुलिस ने अन्य जिलों की पुलिस को सूचना दी है।