पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Vaccine Effect, 11% Reduced Infected Elderly In ICU; In The First Wave, The Elderly Were More Infected, In The Second Wave More Infection Spread Among The Youth.

बीएमसी में शोध:टीके का असर, आईसीयू में 11% घटे संक्रमित बुजुर्ग; पहली लहर में बुजुर्ग ज्यादा संक्रमित हुए थे, दूसरी लहर में युवाओं में ज्यादा संक्रमण फैला

सागर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

बीएमसी के टीबी एंड चेस्ट रोग विभाग में कोविड की पहली और दूसरी लहर को लेकर एक शोध हुआ है। इस शोध में अगस्त 2020 से नवंबर 2020 यानी पहली लहर के पीक और अप्रैल 2021 से मई 2021 यानी दूसरी लहर के पीक में बीएमसी के आईसीयू में भर्ती हुए मरीजों का आयु वर्ग के हिसाब से तुलनात्मक अध्ययन किया गया है। जिसमें सामने आया कि पहली और दूसरी लहर में 30 से 40 वर्ष तक के युवा लगभग बराबर संख्या में ही संक्रमित हुए, लेकिन पहली लहर की अपेक्षा दूसरी लहर में आईसीयू में भर्ती युवाओं का प्रतिशत 110 फीसदी ज्यादा था।

जबकि आईसीयू में 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों की संख्या दूसरी लहर में 11 फीसदी तक कम रही। शोधकर्ता बीएमसी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. तल्हा साद की माने तो दूसरी लहर में आईसीयू में युवाओं की संख्या बढ़ने और बुजुर्गों की संख्या कम होने का मुख्य कारण टीकाकरण रहा। उन्होंने बताया कि मार्च के पहले सप्ताह से ही सरकार ने बुजुर्गों का टीकाकरण शुरू कर दिया था।

अप्रैल में दूसरा पीक आने तक अधिकांश बुजुर्ग एक-एक टीका लगवा चुके थे। जबकि 40 वर्ष से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू करने में देर हो गई और टीका नहीं लगने के कारण ये संक्रमण की गंभीरता का ज्यादा शिकार हुए, लेकिन अब तीसरी लहर में तेजी से हो रहा टीकाकरण बुजुर्गों और युवाओं दोनों को ही सुरक्षित रखने में सहायक होगा।

ऐसे समझें पहली और दूसरी लहर में युवाओं और बुजुर्गों के संक्रमण का अंतर

मरीजों की संख्या
पहली लहर का पीक- अगस्त से नवंबर 2020 के बीच 120 दिन में बीएमसी में 1589 मरीज भर्ती हुए। इनमें से 410 मरीजों का आईसीयू में इलाज किया गया। गंभीर मरीजों में 310 पुरुष और 100 महिलाएं थीं। दूसरी लहर का पीक- 15 अप्रैल से मई 2021 में 45 दिन के भीतर 1266 मरीज बीएमसी में भर्ती हुए। इनमें से 247 मरीजों का आईसीयू में इलाज हुआ। 158 पुरुष और 89 महिलाएं थीं।

संक्रमण का प्रतिशत
पहली लहर- कुल संक्रमित मरीजों में 30 से 40 वर्ष तक के युवा 21.9 फीसदी और 60 से 70 वर्ष के बुजुर्ग 14.1 फीसदी थे। दूसरी लहर- कुल संक्रमित मरीजों में 30 से 40 वर्ष तक के युवा 22.8 फीसदी और 60 से 70 वर्ष के बुजुर्ग 6.9 फीसदी थे।

आईसीयू में भर्ती
पहली लहर- आईसीयू में भर्ती हुए संक्रमित मरीजों में 30 से 40 वर्ष तक के युवा 10.2 फीसदी और 60 से 70 वर्ष के बुजुर्ग 25.9 फीसदी थे। दूसरी लहर- आईसीयू में भर्ती हुए संक्रमित मरीजों में 30 से 40 वर्ष तक के युवा 21.45 फीसदी और 60 से 70 वर्ष के बुजुर्ग 14.5 फीसदी थे।

मृत्युदर
पहली लहर- आईसीयू में भर्ती कोरोना संक्रमित 30 से 40 वर्ष तक के युवाओं की मृत्यु दर 7 प्रतिशत थी, जबकि 60 से 70 वर्ष के बुजुर्गों की मृत्युदर 33 फीसदी थी। दूसरी लहर- आईसीयू में भर्ती कोरोना संक्रमित 30 से 40 वर्ष तक के युवाओं की मृत्यु दर बढ़कर 11 प्रतिशत हो गई, जबकि 60 से 70 वर्ष के बुजुर्गों की मृत्युदर घटकर 9.7 फीसदी तक पहुंची।

खबरें और भी हैं...