सड़क पर रौनक / कटरा में चहल-पहल, रात 9 बजे तक खुली दुकानें, व्यापारियों की आंखों में लाैटी चमक

Walk in Katra, shops open till 9 o'clock, Latti glow in the eyes of traders
X
Walk in Katra, shops open till 9 o'clock, Latti glow in the eyes of traders

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

सागर. शहर समेत अब जिले के सभी बाजार सुबह 7 से रात 9 बजे तक खुले रहेंगे।  ढाई महीने से ज्यादा समय के बाद सोमवार को शहर के प्रमुख बाजार लगभग पूरे दिन खुले रहे। जिला प्रशासन ने इस बारे में व्यवसायियों को स्पष्ट रूप से कोई सूचना नहीं दी थी, इसलिए कई दुकानदारों में असमंजस की स्थिति रही। वे पुलिसिया कार्रवाई के भय से शाम 7 बजे के पहले ही अपना कारोबार समेट कर निकल गए।

लग्नसरा की ग्राहकी करने में सुविधा होगी: लिंक रोड पर वैवाहिक साड़ियां व शूटिंग-सर्टिंग के कपड़ा व्यवसायी विनीत तालेवाले ने कहा कि ये सरकार अच्छा निर्णय है। इससे कारोबार को फिर से मजबूत होने में मदद मिलेगी। चूंकि इस समय किराना को छोड़ अधिकांश दुकानदारी लग्नसरा यानी वैवाहिकी संबंधी है। इसलिए दुकानदारों को अब ग्राहकी करने के लिए ज्यादा समय मिलेगा।सिविल लाइन निवासी मधुलिका पांडे ने बताया कि मेरी बेटी की इस महीने शादी है। इस संबंध में खरीदी जारी है। लेकिन बीते सप्ताह से सूरज का पारा लगातार चढ़ रहा है। इसके चलते बाजार आना-जाना बड़ा कष्टप्रद हो गया था। लेकिन अब टाइमिंग में हुई बढ़ोत्तरी के कारण शाम 4 से रात 8 बजे तक सुविधाजनक रूप से खरीदी की जा सकती है। इस दौरान मौसम ठंडा रहेगा और खरीदी का लुत्फ भी आएगा।    

अपर कलेक्टर, अखिलेश जैन का कहना है कि का कहना है कि व्यवसायी बंधु और आम नागरिक बेखटके अब रात 9 बजे तक खरीद-फरोख्त कर सकते हैं। ये व्यवस्था कंटेनमेंट जोन को छोड़ सभी जगह लागू रहेगी। तय समय के बाद दुकान खुली पाए जाने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

नहीं चली बसें, ऑपरेटर बाेले- अ‌ाधी सवारी बैठाने से घाटे का साैदा, सरकार अनुदान दे और टैक्स माफ हाे

लाॅक डाउन खुलने के बाद साेमवार से बसाें का संचालन हाेना था, लेकिन एक भी बस नहीं चली। बस स्टैंड पर सन्नाटा पसरा रहा। साेशल डिस्टेंस के लिए बस में 50 प्रतिशत सवारी बैठाने की शर्त पर ऑपरेटराें ने बस संचालन काे घाटे का साैदा बताते हुए इसमें असमर्थता जाहिर की है। उनकी मांग है कि सरकार 50 प्रतिशत सीटाें का अनुदान दे अाैर टैक्स माफ करे। इस संबंध में साेमवार काे बस ऑपरेटराें की बैठक हुई जिसमें तय हुआ कि इस संबंध में ऑपरेटर मंगलवार काे कलेक्टर काे ज्ञापन साैंपेंगे। जिला बस ऑपरेटर यूनियन की बैठक में सरकार के समक्ष तीन ऑप्शन रखे गए। पहला 50 प्रतिशत सीटाें का अनुदान दे। दूसरा टैक्स माफ करे और तीसरा विकल्प यह खुला रखा है कि सरकार खुद बसाें का अधिग्रहण करके सरकारी रेट पर किमी के हिसाब से ऑपरेटराें काे पैसा देकर बसाें का संचालन कराए। यूनियन के सचिव अतुल दुबे ने बताया कि इन तीनाें विकल्पाें के साथ मंगलवार काे कलेक्टर दीपक सिंह काे ज्ञापन साैंपेंगे। बैठक में यूनियन के अध्यक्ष संताेष पांडेय, अरविंद तिवारी, जयकुमार जैन, राजेंद्र बरकाेटी, हनुमत ठाकुर आदि माैजूद थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना