केंद्रीय जेल से पैरोल पर छूटे दो कैदी फरार:सागर जेल में हत्या के जुर्म में काट रहे थे उम्रकैद की सजा, तलाश में जुटी पुलिस

सागर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय जेल सागर। - Dainik Bhaskar
केंद्रीय जेल सागर।

सागर केंद्रीय जेल में हत्या के अपराध में उम्रकैद की सजा काट रहे दो अपराधी पैरोल पर छूटने के बाद वापस नहीं लौटे है। कैदियों के फरार होने पर जेल प्रबंधन ने मामले की शिकायत गोपालगंज थाने में की गई। शिकायत पर गोपालगंज थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। दोनों फरार आरोपी दमोह जिले के निवासी है। पुलिस के अनुसार कैदी उमेश पुत्र उद्देत उम्र 35 साल और विकास पुत्र गजेंद्र उम्र 23 साल दोनों निवासी निवासी मागंज वार्ड नंबर 3 दमोह केंद्रीय जेल सागर में उम्रकैद की सजा काट रहे थे।

दोनों कैदियों को 2 मई से 17 मई के लिए पैरोल पर जेल से छोड़ा गया था। जमानतदारों ने 50-50 हजार रुपए की जमानत राशि प्रस्तुत की थी। लेकिन कैदी उमेश और विकास पैरोल की समयसीमा खत्म होने के बाद भी जेल नहीं पहुंचे है। उन्हें 17 मई को जेल में वापस दाखिल होना था। जेल प्रबंधन ने कैदियों की जानकारी निकाली तो वह घर पर नहीं मिले। जिसके बाद जेल प्रबंधन ने गोपालगंज थाने में शिकायत की है। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की है।
हत्या के अपराध में हुई थी आजीवन कारावास की सजा
पुलिस के अनुसार आरोपी उमेश और विकास ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में दमोह जिले में तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश के न्यायालय ने 3 अक्टूबर 2016 को आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। सजा के बाद से आरोपी जेल में बंद थे। इसी बीच दोनों बंदियों को 2 मई से 17 मई के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था। लेकिन पैरोल की अवधि खत्म होने के बाद भी वे जेल में दाखिल नहीं हुए है। मामले में जमानतदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। गोपालगंज थाना प्रभारी सतीश सिंह ने बताया कि जेल प्रबंधन की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। फरार बंदियों की तलाश की जा रही है।