• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Watched The Movie Drishyam And Found A Way To Slit His Throat On YouTube, Had Killed The Former Sarpanch As Soon As He Got A Chance

सागर में प्लानिंग कर की थी कांग्रेस नेता की हत्या:​​​​​​​दृश्यम मूवी देखी और यूट्यूब पर गला रेतने का खोजा तरीका, मौका पाते ही कर दी थी पूर्व सरपंच की हत्या

सागर4 महीने पहले
मृतक अशोक चौबे। (फाइल फोटो)

सागर के बांदरी थाना क्षेत्र में ग्राम सागौनी के पूर्व सरपंच और कांग्रेस नेता अशोक चौबे के चर्चित हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। मुख्य आरोपी गांव का ही अमित पुत्र मुन्नालाल साहू निकला है। पुलिस के अनुसार वह ढाई साल पहले हुए एक सुसाइड मामले में आरोपी था। उस समय पूर्व सरपंच चौबे ने पुलिस कार्रवाई से बचाने के लिए इस मामले में आरोपी की मदद नहीं की। इसी बात पर उनके बीच रंजिश चल रही थी।

जांच में सामने आए कि हत्या के कुछ दिन पहले आरोपी साहू ने दृश्यम फिल्म देखी थी और इसके बाद यू ट्यूब पर दो बार गला काटने का तरीका खोजा था। हत्याकांड के बाद उसने यू ट्यूब पर बांदरी थाना भी सर्च किया था। वह जानना चाह रहा था कि इस मामले में क्या चल रहा है। हत्याकांड में कुछ और आरोपियों के शामिल होने की बात सामने आई है। मामले में पुलिस साक्ष्य जुटाने और आरोपियों की तलाश कर रही है।
साक्ष्य मिटाने के लिए छिपाए थे मृतक के कपड़े
हत्या का आरोपी बेहद शातिर है। उसने हत्या करने के पहले पूरी प्लानिंग कर रखी थी। दरवाजा खोलकर घर में घुसा और सोते समय चौबे का गला काट दिया। लेकिन गला काटने के दौरान मृतक के कपड़ों पर खून के साथ आरोपियों के फिंगर प्रिंट आ गए थे। जिन्हें मिटाने के लिए मृतक के कपड़े उतारकर छिपा दिए थे। मृतक के निर्वस्त्र मिलने के कारण पुलिस को कई तरह की शंकाएं थीं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी कुछ तथ्य सामने आए थे। लेकिन आरोपी की गिरफ्तारी के बाद कहानी रंजिश के रूप में सामने आई है। अन्य साथियों के पकड़े जाने के बाद मामले में और खुलासे हो सकते हैं।
सुसाइड के मामले में पूर्व में आरोपी पर दर्ज हुआ था केस
पूर्व सरपंच की हत्या के मामले में पुलिस को गांव से ही आरोपी का सुराग मिला था। पुलिस के अनुसार वर्ष 2019 में आरोपी अमित साहू ने एक हरिजन युवक से सरेआम मारपीट की थी। मारपीट व प्रताड़ना के कारण उसने आत्महत्या कर ली थी। बांदरी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ सुसाइड मामले में प्रकरण दर्ज किया था। आरोपी ने तत्कालीन सरपंच अशोक चौबे से मदद मांगी थी। मामले में आरोपी को मदद नहीं मिली तो उनके बीच रंजिश शुरू हो गई।

आरोपी अभी जमानत पर छूटा था। उसने अन्य सहयोगियों की मदद से वारदात की है। वारदात के एक-दो दिन पहले गांव में राई नृत्य होने की भी चर्चा है। मृतक के परिजन व रिश्तेदार इस कहानी पर संदेह व्यक्त कर रहे हैं। उन्हें इस पूरे हत्याकांड में कोई साजिश नजर आ रही है। पुलिस अधीक्षक तरुण नायक ने बताया कि मामले में अभी कुछ और खुलासे हो सकते हैं। पुलिस टीम जांच कर रही है।