• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Will Inaugurate 200 bed Temporary Kovid Hospital, Union Petroleum Minister Pradhan Will Also Be Involved

CM ने अस्थाई अस्पताल का किया शुभारंभ:पेट्रोलियम मंत्री ने कहा-कोरोना संक्रमण कंट्रोल करने में MP देश में एक मॉडल बना है, CM बोले- बीना अस्पताल को फीवर क्लिनिक के रूप में चलाओ

सागरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हुए शामिल। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हुए शामिल।

सागर जिले के बीना में आगासौद चक्क के पास बनाए जा रहे अस्थाई कोविड अस्पताल का शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 200 ऑक्सीजन बेड के साथ शुभारंभ किया। साथ ही बीपीसीएल द्वारा लगाए गए ऑक्सीजन बॉटलिंग एंड रिफलिंग प्लांट का शिलान्यास किया गया। कार्यक्रम में केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शामिल हुए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि एक माह में दूसरी बार बीना आ रहा हूं। ये मेरा सौभाग्य है। मैं महाकाल के सामने प्रार्थना करूंगा कि अस्पताल खाली रहे। कोविड की तीसरी लहर आ भी सकती है और न आए तो अच्छा है। मप्र में सबसे कम संक्रमण दर हुई है।

कोरोना के संकट में संक्रमण पर कंट्रोल करने में मप्र ने देश को एक मॉडल दिया है। क्राइसिस मैनेजमैंट ग्रुप से संक्रमण कंट्रोल किया। मप्र में किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर पहुंचकर इलाज किया। बीना रिफाइनरी में ऑक्सीजन बॉटलिंग एंड रिफलिंग प्लांट से करीब 25 टन ऑक्सीजन प्रतिदिन सिलेंडरों में भरने की व्यवस्था की जाएगी।

अस्थाई कोविड अस्पताल का शुभारंभ करते सीएम व पेट्रोलियम मंत्री
अस्थाई कोविड अस्पताल का शुभारंभ करते सीएम व पेट्रोलियम मंत्री

वायरस गया नहीं, सभी को सावधान रहना होगा
कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा तीसरी लहर न आए। इसके लिए सभी प्रयास करेंगे। क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप और जनता तीसरी लहर रोकने का काम करेगी। बीना में अस्थाई कोविड अस्पताल को सावधानी के तौर पर शुरू किया जा रहा है। यदि संकट आ जाए तो हमारे पास व्यवस्थाएं हैं। बीना में ऑक्सीजन भी पर्याप्त है। ऑक्सीजन सिलेंडर में भरने के लिए भी प्लांट बनाया जा रहा है।

लेकिन अभी ध्यान रखना है कि वायरस गया नहीं है, सावधान रहना होगा। बीना अस्थाई कोविड अस्पताल में फीवर क्लीनिक चलाओ। सर्दी, खासी, बुखार को मरीजों का इलाज करो। अस्पताल में वैक्सीनेशन कार्य में कराया जाए। सभी लोग वैक्सीन लगवाएं। टीका सुरक्षित है।

कायर्क्रमस्थल
कायर्क्रमस्थल

सरकार के साथ जनता करें एक काम
सीएम चौहान ने कहा कि संभावित तीसरी लहर और संक्रमण को रोकने के लिए तीन काम करना होंगे। एक काम सरकार करेगी और एक क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप व एक काम जनता करेगी।
सरकार का काम- रोज 80 हजार के आसपास टेस्टिंग कराएंगे। पॉजिटिव मिलने पर आसपास के 20 लोगों का टेस्ट लेंगे। मरीज को भर्ती करा दिया जाएगा। किल कोरोना अभियान जारी रहेगा।
क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप का काम- संक्रमण से बचाओ के प्रति जनता को जागरूक करना। भीड़भाड़ और कोरोना गाइड लाइन का पालन कराने के लिए प्रेरित करना। गांव से जिले तक संक्रमण रोकने के लिए लोगों को सावधान करने के साथ लापरवाही को रोकना है।
जनता का काम-जनता कोरोना गाइड लाइन का पालन करे। भीड़ नहीं लगाना, बड़े आयोजन न करें। सभी लोग मॉस्क लगाएं।
सीएम ने दिया राजधर्म का उदाहरण
कार्यक्रम में मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि पूरे जीवन में ऐसी महामारी नहीं देखी। समस्या से निपटने के लिए बीना अस्थाई कोविड अस्पताल मील का पत्थर साबित होगा। आपदा के समय राजा की पहचान होती है। कोरोना महामारी के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बेहतर राजधर्म का उदाहरण दिया है। ये अस्पताल संभावित तीसरी लहर में उपयोगी रहेगा।

मीडिया के प्रवेश पर प्रतिबंध

बीना अस्थाई कोविड अस्पताल के शुभारंभ के दौरान मीडिया के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है। जनसंपर्क अधिकारी मीडिया को शुभारंभ से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे। सागर पीआरओ मनोज नेमा ने बताया कार्यक्रम में मीडिया को प्रवेश नहीं है। जनसंपर्क द्वारा सभी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। मीडिया के प्रतिबंध का कारण पूछने पर बोले- अधिकारियों से पूछकर बताता हूूं। इधर, गुरुवार को हवा-आंधी में अस्पताल के टीन उड़े थे और बिजली लाइन के पोल गिरे थे। इससे अस्पताल निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे हैंं।

घोषणा के 50 दिन बाद शुरू होगा अस्पताल
दूसरी लहर के बीच 21 अप्रैल को मुख्यमंत्री चौहान ने बीना में रिफाइनरी के पास 1000 बेड का अस्थाई कोविड अस्पताल बनाने की घोषणा की थी। 15 दिनों में अस्पताल तैयार होना था। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इसके बाद कोरोना संक्रमण की दर कम हुई और अस्पतालों में पलंग खाली हो गए। इसी बीच कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बीना में 1000 बेड के स्थान पर वर्तमान में 200 ऑक्सीजन बेड से अस्थाई कोविड अस्पताल की शुरुआत की जा रही है। जरूरत पड़ने पर इसे 1000 बेड की क्षमता तक बढ़ाया जाएगा।

कोविड अस्पताल का जायजा लेते सीएम, डोम का टीन भी देखा।
कोविड अस्पताल का जायजा लेते सीएम, डोम का टीन भी देखा।
खबरें और भी हैं...